DA Image
Wednesday, December 1, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशआलू का भाव हुआ सुर्ख, किसानो ने रोकी निकासी

आलू का भाव हुआ सुर्ख, किसानो ने रोकी निकासी

हिन्दुस्तान टीम,फर्रुखाबाद कन्नौजNewswrap
Tue, 19 Oct 2021 03:06 AM
आलू का भाव हुआ सुर्ख, किसानो ने रोकी निकासी

फर्रुखाबाद। संवाददाता

मौसम के मिजाज में जो उतार चढ़ाव आया और बारिश हुई उससे तरकारी के राजा आलू का भाव और सुर्ख हो गया है। बढ़ते भाव को देखते हुए और उम्मीद के साथ किसानो ने शीतगृहों से आलू की निकासी रोक दी है। अगौती आलू की खेती पर बारिश की जो मार पड़ी है उससे आलू का भाव और बढ़ने की उम्मीद है। इससे आम आदमी की जेब पर बड़ा असर पड़ेगा। यूपी के अन्य जिलों में भी लोग महंगा आलू खरीदेंगे। थोक और फुटकर के भाव में भी बड़ा अंतर चल रहा है।

जिले में करीब 45 हजार हेक्टेयर में आलू की खेती की गयी थी। इसमें 12 लाख मीट्रिक टन से अधिक आलू की पैदावार हुई थी। 94 शीतगृहों में 7 लाख मीट्रिक टन से अधिक आलू भंडारित किया गया। शुुरुआत में आलू का भाव 600 से 800 रुपये प्रति कुंतल के ईद गिर्द घूमता रहा। ऐसे में किसान आलू को लेकर खासे चिंतित थे। अब जब पिछले एक पखवारे से मौसम का रुख बदला और बारिश हुई तो अगौती आलू की खेती भी करीब 25 दिन लेट हुई। इससे आलू का भाव अब सुर्ख हो गया है। इस समय आलू का भाव एक हजार रुपये कुंतल से 1300 रुपये कुंतल के ईद गिर्द घूम रहा है। इसमें चिप्सोना और 3797 आलू सबसे महंगा बिक रहा है। शीतगृहों में करीब 40 फीसदी आलू अभी भी भंडारित है। किसान इस उम्मीद के साथ इसे रोके हैं कि भाव और बढ़ेगा। हालांकि अभी प्रदेश की दूसरी मंडियों से कोई खास आलू की मांग निकलकर नहीं आ रही है लेकिन जो बारिश हुई है उससे किसानों को आस है कि इस आलू की खपत अपने जिले के अलावा आस पास के जिलों में आलू की गड़ाई और थोक बिक्री में निकल जाएगी। 15 नवंबर तक शीतगृह खाली होने हैं। प्रगतिशील किसान सुधीर शुक्ला का कहना है कि बारिश के कारण आलू में तेजी आयी है। ऐसी उम्मीद है कि अभी आलू का भाव और बढ़ेगा। किसान अरविंद राजपूत ने बताया कि बाहर से कोई खास मांग नही है। आलू की जो रेक भेजी गई उससे भी किसानों को कुछ हद तक राहत मिली। वहीं दूसरी ओर बाजार में आलू का भाव इन दिनों 15 से 20 रुपए प्रति किलो चल रहा है। अब जब महंगाई की जो आग लगी है उसमें फुटकर में भी आलू का भाव और सुर्ख होने की संभावना बन गई है। आम आदमी अभी से ही आलू को हाथ खींचकर खरीद रहा है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें