DA Image
27 अक्तूबर, 2020|9:03|IST

अगली स्टोरी

मुकदमे में नामजदगी और घर में मिले ब्लड को लेकर उलझी पुलिस

default image

अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद के प्रदेश उपाध्यक्ष सतीश चंद्र गुप्ता की मंगलवार की रात हुई हत्या को लेकर पुलिस पूरी तरह से उलझी हुई है। जिन लोगों की हत्या में नामजदगी कराई गई है उनकी लोकेशन को पुलिस खंगाल रही है। वहीं वैश्य नेता के घर में मिले ब्लड को लेकर पुलिस उलझी हुई है। हालांकि उनके एक भाई अभी तक पुलिस के सामने नहीं आए हैं। इससे पुलिस की मुश्किलें और बढ़ी हैं।

पुलिस उनके भाई को ढूंढने में लगी हुई है। शहर कोतवाल का कहना है कि पुलिस पूरे मामले को लेकर जांच पड़ताल कर रही है। जल्द ही इसमें सारी असलियत खुलकर सामने आएगी। उन्होंने बताया कि जिन लोगों को नामजद किया गया है उनको लेकर भी जांच की जा रही है। वहीं वैश्य नेता के परिवार वाले भी परेशान हो रहे हैं। उधर आस पास के लोग भी यह नहीं समझ पा रहे हैं कि आखिर वैश्य नेता की हत्या किस समय की गई और कातिल किस ओर से भाग गए। पुलिस यह भी पता करने का प्रयास कर रही है कि वैश्य नेता के पास किन किन लोगों का उठना बैठना रहता था। सबसे अधिक नजदीकियां किससे थीं जिससे कि यह पता चल सके कि आखिरकार वैश्य नेता की दुश्मनी किससे थी। हलांकि इस ओर अभी पुलिस को कोई सुराग नहीं लगा है।

वैश्य नेता का जो मोबाइल पुलिस को मिला है उससे भी कुछ सुराग हाथ नहीं लगा है। शहर कोतवाल ने बताया कि वैश्य नेता के भाई मुन्ना की तलाश में पुलिस की एक टीम लगा दी गई है। मुन्ना सामने आए तो और सच्चाई पता लगे। उन्होंने बताया कि पुलिस जल्द ही घटना का खुलासा करेगी। शहर कोतवाल ने बताया कि मुकदमे में जिन लोगों को नामजद किया गया है उनको लेकर भी जांच की जा रही है। कोई निर्दोष जेल नहीं जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Police miffed over the nomination in the case and the blood found in the house