DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

36523 वृद्धावस्था पेंशन लाभार्थियों की कराई जाएगी जांच

गरीबो के कल्याण को संचालित वृद्धावस्था पेंशन के लाभार्थियों की जांच कराई जाएगी। जांच में अपात्रों की छटनी होगी तो वहीं मृतकों के नाम भी बाहर होंगे। शहरी क्षेत्र में जहां लेखपालों के माध्यम से पेंशन लाभार्थियों की जांच कराई जाएगी तो वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायत सचिवों को यह जिम्मेदारी दी जा रही है। बताया जा रहा है कि जांच में दर्जनों लोगों के नाम बाहर हो सकते हैं। जिले में कुल 36523 वृद्धावस्था पेंशन के लाभार्थी हैं। जून से जुलाई माह के मध्य लाभार्थियों को अगली किस्त जारी होनी है। अगली किस्त जारी होने से पहले ही शासन के निर्देश हैं कि सभी लाभार्थियों की जांच सुनिश्चित कराई जा सके जिससे कि मृतकों व अपात्रों के नाम बाहर हो सकें। शासन से इसको लेकर दिशा निर्देश दिए हैं। यह भी सुनिश्चित किया जा रहा है कि जांच के कार्य की भी पारदिर्शता सुनिश्चित हो । इसके बाद रेंडम जांच कराई जाएगी। क्योंकि अक्सर देखने को मिलता है कि पंचायत सचिव एक ही स्थान परबैठकर लाभार्थियों का सत्यापन कर लेते हैं। ऐसे में अपात्र अक्सर लाभ पा जाते हैं। इन सारी स्थितियों को देखते हुए प्रशासन ने इस बार जांच के कार्य को बेहद गंभीरता से कराने के लिए रणनीति बनाई है।

7000 लाभार्थियों ेक आधार नंबर नहंी हुए फीड

वृद्धावस्था पेंशन में अभी सात हजार लाभार्थियों के आधार नंबर तक फीड नहीं हुए हैं। यदि यह आधार नंबर फीड हो जाते हैं तो प्रशासन के पास और वास्तविक स्थिति आ जाएगी। क्योंकि इनमें कई लाभार्थी अपात्र भी हो सकते हैं। अब चुनाव निपटने के बाद इन लाभार्थियों पर प्रशासन का फोकस होगा।

15860 दिव्यांग पेंशन लाभार्थियों की भी जांच

जिले में कुल 15860 दिव्यांग पेंशन लाभार्थी हैं। इन लाभार्थियों की भी डोर टू डोर जांच कराई जाएगी। इस कार्य के लिए भी लेखपाल और पंचायत सचिवों को जांच दी जा रही है। जांच के लिए बिंदु भी तय किए गए हैं। इन बिंदुओं के आधार पर जांच कराई जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pension