DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  अब गांवों के भी स्ट्रीट वेंडरों को मिलेगी आर्थिक मदद
फर्रुखाबाद कन्नौज

अब गांवों के भी स्ट्रीट वेंडरों को मिलेगी आर्थिक मदद

हिन्दुस्तान टीम,फर्रुखाबाद कन्नौजPublished By: Newswrap
Sun, 13 Jun 2021 11:01 PM
अब गांवों के भी स्ट्रीट वेंडरों को मिलेगी आर्थिक मदद

फर्रुखाबाद। संवाददाता

कोरोना काल में आर्थिक समस्या से जूझ रहे ग्रामीण क्षेत्रों के भी स्ट्रीट वेंडरों को नगरीय क्षेत्र की तर्ज पर आर्थिक मदद मुहैया कराई जाएगी। इसके लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत में 100-100 वेंडरों को लाभान्वित किया जाएगा। उन्हे एक हजार रुपए की आर्थिक मदद दी जाएगी। कोरोना की पहली लहर में शहरी क्षेत्र के स्ट्रीट वेडरों को आर्थिक मदद के रूप में 1000 की राशि दी गई थी।

नगरीय क्षेत्र में यह संख्या 10 हजार के आसपास थी। उस समय ग्रामीण क्षेत्रों के वेडरों को इस योजना का लाभ नहीं दिया गया था। जबकि देहात क्षेत्र के स्ट्रीट बेंडर रोजगार छिनने से सर्वाधिक परेशान हुए थे। दूसरी लहर में भी ग्रामीण क्षेत्र के स्ट्रीट वेंडर रोजगार छिनने से कहीं के नहीं रहे। गांव में ठेली लगाने वाले, खोखा चलाकर आजीविका निर्वहन करने वाले, फेरी लगाने वालों को भरण पोषण में गंभीर समस्या पैदा हो गई। अभी भी गांव के स्ट्रीट वेंडरों की गाड़ी पटरी पर नहीं आई है। उन्हें एक एक रुपए के लिए मोहताज होना पड़ रहा है। शासन की ओर से गांव के ऐसे स्ट्रीट वेंडरों को राहत देने का फैसला लिया गया है जो कि रोजगार छिनने से प्रभावित हुए हैं। इसमें उन लोगों को 1 हजार की मदद दी जाएगी। जो छोटे मोटे रोजगार माध्यम से आजीविका चला रहे थे। जबकि श्रम विभाग में पंजीकृत न हों और न ही मनरेगा से जुड़े श्रमिकों को इसका लाभ नहीं मिलेगा।

संबंधित खबरें