Saturday, January 22, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशनिगरानी समितियां निष्क्रिय, अस्पतालों तक सिमटी कोरोना की जांच

निगरानी समितियां निष्क्रिय, अस्पतालों तक सिमटी कोरोना की जांच

हिन्दुस्तान टीम,फर्रुखाबाद कन्नौजNewswrap
Tue, 30 Nov 2021 10:20 PM
निगरानी समितियां निष्क्रिय, अस्पतालों तक सिमटी कोरोना की जांच

फर्रुखाबाद। संवाददाता

कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रोन को लेकर स्वास्थ्य विभाग के दावे पूरी तरह से फेल हो रहे हैं। समितियां निष्क्रिय हैं। अस्पतालों तक कोरोना की जांच सिमटी हुई है। कहीं पर भी सतर्कता नजर नहीं आ रही है। बाजारों में बेतहाशा भीड़, बगैर मास्क के निकलते लोग अब संक्रमण से डर भी नहंी रहे हैं। बाहर से आने वालों की जांच के भी कोई इंतजाम नहीं हैं। जिस तरह से नए वेरिएंट की आहट को लेकर हल्ला मचा हुआ है उसको लेकर स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जरूर जारी कर दिया है पर दो गज की दूरी का पालन कराने के लिए कोई गंभीरता नहीं दिखाई जा रही है। यहां तक कि जागरूकता अभियान भी पूरी तरह से बंद चल रहे हैं। बाजार की बात करें तो यहां बेतहाशा भीड़ हो रही है। लोग बगैर मास्क के निकल रहे हैं।

अस्पताल में देखें तो यहां पर भी बड़ी संख्या में बीमार बगैर मास्क के पहुंच रहे हैं। डॉक्टर को दिखाने के लिए लबी लाइन में दो गज की दूरी भी तोड़ रहे हैं। इतना सब कुछ होने के बाद भी जिम्मेदार व्यवस्था बनाने को लेकर गंभीर नहीं हैं। सीएमओ डॉ.सतीश चंद्रा का दावा है कि कोरोना के संक्रमण से निपटने के लिए पूरे इंतजाम हैं। अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट भी चालू हैं। अलग से जिन अस्पतालों में बेड सुरक्षित किए गए थे वहां की व्यवस्था भी बेहतर है। सीएमओ भी स्वीकार करते हैं कि अभी व्यवस्थाओं के अनुरूप स्टाफ नहीं है। लेकिन नए वेरिएंट से निपटने के लिए व्यवस्थाएं पूरी हैं। समितियों को भी सक्रिय किया गया है। सीएचसी पर भी संक्रमण को लेकर जांचे हो रही हैं। वहीं दूसरी ओर बाजारों में दुकानदार भी ग्राहकों को मास्क के प्रति जागरूक नहीं कर रहे हैं। इसके चलते लोग पूरी तरह से मनमानी पर उतारू हैं। हर रोज बाजार में कहीं न कहीं जाम लग रहा है। बगैर मास्क के लोग इसमें दो गज की दूरी तोड़ते हुए फंस रहे हैं।

कॉलेज, पालीटेक्निक में होगी सैंपलिंग

फर्रुखाबाद। कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर जो हल्ला मचा हुआ है उसके बीच स्वास्थ्य विभाग ने सैंपलिग की रफ्तार और तेज की है। नोडल अधिकारी डॉ.दीपक कटारिया ने बताया कि जिले में हर रोज 1000 से 1200 के बीच केारोना के सैंपल जांच क ो लिए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि अब पांच दिसंबर तक विशेष अभियान सैंपल को लेकर चलाया गया है। इसमें पॉलीटेक्निक, डिग्री कालेज, मेडिकल कालेज के छात्र छात्राओं के सैंपल लिए जाएंगे। इनकी जांच की जाएगी। संक्रमण को लेकर पूरी सतर्कता बरती जा रही है। ग्रामीण क्षेत्र के अस्पतालों में भी सैंपलिंग का काम और बढ़ाया गया है। अभी अपने जिले में कोई खतरा नहंीं है। लेकिन इसके बाद भी पूरी चौकसी रखी जा रही है।

epaper

संबंधित खबरें