DA Image
28 अक्तूबर, 2020|5:15|IST

अगली स्टोरी

महिलाओं को स्वालंबी और सशक्त बनाएं

महिलाओं को स्वालंबी और सशक्त बनाएं

मिशन शक्ति अभियान पर प्रशासन ने पूरा फ ोकस कर दिया है। शासन से भेजी गईं नोडल अधिकारी डा. ख्याति गर्ग ने महिला उत्पीड़न के मामलों पर प्रभावी नियंत्रण के निर्देश दिए। उन्होंने महिला थाने का निरीक्षण किया तो यहां पर एक नाबालिग को बैठे देखा। पता लगा कि थाने में दो दिन से बैठी है। इस पर उनका पारा गर्म हो गया और उन्होंने इस मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए। कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने बताया कि 25 अक्तूबर तक मिशन शक्ति अभियान चलाया जा रहा है। सभी संबंधित विभाग अपने बजट से इस अभियान का प्रचार प्रसार करें। विभिन्न विभागोंं में महिला सुनवाई के लिए अलग से व्यवस्था कराई जाए। जिन विभागों में महिला कर्मचारी हैं वहां महिला जनसुनवाई में महिलाओं को लगाया जाए जिससे महिलाएं आसानी से अपनी समस्याएं बता सकें। नेहरू युवा केंद्र के माध्यम से ग्राम पंचायतों मे खेलकूद प्रतियोगिताएं कराने के निर्देश दिए। नोडल अधिकारी ने कहा कि महिलाओं को स्वालंबी और सशक्त बनाया जाए। शासन के निर्देशानुसार संबंधित 23 विभाग बराबर अपने कर्तव्यों का पालन कर महिलाओं, छात्राओं और बेटियों को जागरूक करें। जिले में पॉक्सो एक्ट की कार्रवाई प्रभावी ढंग से करने के निर्देश दिए। 181,1090,112,1098 आदि हेल्पलाइन नंबरों को आम लोगों तक पहुंचाने की आवश्यकता है। घरेलू हिंसा से पीड़ित महिलाओं की समस्याओं के निस्तारण में हीला हवाली नहीं होनी चाहिए। वन स्टाप सेंटर की ओर से पीड़ित महिलाओं को सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं। विद्यालय में ड्राप आउट छात्राओं को चिन्हित किया जाए। जिन विद्यालयों में अधिक छात्राएं ड्राप आउट हैं उनको वाच करें। इस दौरान पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार मिश्रा, सीएमओ वंदना सिंह आदि अधिकारी मौजूद रहे। वहीं नोडल अधिकारी ने महिला थाने का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने थाने में बैठी एक बालिका से जाना तो पता चला कि पुलिस दो दिन से बैठाए है। इस पर उनका पारा गर्म हो गया। इस मामले में कहा कि नाबालिग को क्यों बैठाया गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Make women independent and empowered