DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › बारह अपराधियों की खोली हिस्ट्रीशीट, 26 पर गैंगेस्टर
फर्रुखाबाद कन्नौज

बारह अपराधियों की खोली हिस्ट्रीशीट, 26 पर गैंगेस्टर

हिन्दुस्तान टीम,फर्रुखाबाद कन्नौजPublished By: Newswrap
Mon, 02 Aug 2021 04:20 AM
बारह अपराधियों की खोली हिस्ट्रीशीट, 26 पर गैंगेस्टर

फर्रुखाबाद। संवाददाता

अपराधियों पर शिंकजा कसने के लिए पुलिस थानेवार कार्रवाई करने में जुटी हुई है। इलाके में सक्रिय अपराधियों की पूरी तरह पड़ताल की जा रही है। पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार मीणा ने अपराधियों पर कार्रवाई को लेकर जो तेवर कड़े किए हैं उससे यहां अपराधियों में खासा हड़कंप मचा हुआ है।

अपराधियों की लंबे समय बाद नींद टूटी है7 कई अपराधी तो पुलिस से बचने के लिए इधर उधर हो गए हैं। जिस शांतिपूर्ण तरीके से पंचायत का चुनाव सकुशल संपन्न हुआ उसी बीच अपराधियों पर भी शिकंजा कसने की कार्रवाई शुरू हुई। अपराधियों की कमर तोड़ने के लिए पुलिस अधीक्षक ने थानेवार जो वीट का सिस्टम लागू किया उससे पुलिस को काफी जानकारियां हाथ लगी हैं। पुलिस की यह बीट सिस्टम प्रणाली पूरी तरह से अपराधियों पर भारी पड़ गई। अब तक पुलिस ने एसपी के नेतृत्व में अपराधियों पर जो कार्रवाई की है उसमें 12 अपराधियों की हिस्ट्रीशीट खोली गयी है, 26 पर गैंगेस्टर लगाया गया है। यही नहंीं आठ अपराधियों की संपत्ति भी कुर्क की गयी है। इसमें करीब 48 लाख की संपत्ति है। पुलिस की कार्रवाई अपराधियों के खिलाफ और तेजी के साथ आगे बढ़ती रही। इसमें 8 शातिर अपराधियों पर एनएसए की कार्रवाई की गयी। 631 पर गुंडा एक्ट लगा। 139 अपराधी जिला बदर किए गए जिसमें 30 अपरधियों को पुलिस ने जिले में रहने पर दबोच लिया। अवैध शस्त्रों को लेकर जो अभियान चलाया गया उसमें भी पुलिस को खासी सफलता हाथ लगी। इसमें 297 मुकदमे दर्ज हुए। भारी संख्या में अवैध असलहे भी बरामद किए गए। अवैध शराब के खिलाफ अभियान में भी पुलिस ने अच्छी सफलता पाई। 714 मुकदमे दर्ज हुए, भारी मात्रा में शराब बनाने के उपकरण बरामद किए गए। जुआ खेलने वालों पर भी पुलिस ने शिकंजा कसा। इसमे 190 लोग गिरफ्तार किए। एसपी ने क्राइम कंट्रोल के लिए पुलिस को जो दिशा निर्देश दे रखे हैं उस आधार पर थानावार पुलिस काम कर रही है। क्योंकि हर रोज ही पुलिस अधीक्षक, थानेदार से अपराधियों को लेकर बातचीत भी कर रहे हैं। क्या कार्रवाई किसके क्षेत्र में हुई इसकी भी समीक्षा हो रही है। इससे थानेदार भी अपराधियों को पकड़ने के लिए दौड़ रहे हैं।

संबंधित खबरें