DA Image

फर्रुखाबाद कन्नौजगंगा का जलस्तर और बढ़ा

हिन्दुस्तान टीम,फर्रुखाबाद कन्नौजPublished By: Newswrap
Sun, 26 Jul 2020 11:06 PM
गंगा का जलस्तर और बढ़ा

पहाड़ों पर हो रही बारिश का असर गंगानदी के जलस्तर पर दिखाई दे रहा है। रविवार को गंगानदी का जलस्तर और बढ़ गया। विभिन्न बांधों से पानी छोड़े जाने के बाद तराई इलाकों में खलबली मची है। वहीं जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह ने रामगंगा नदी किनारे बसे अलादादपुर भटौली में कटान का जायजा लिया। उन्होंने सभी राजस्व अधिकारियों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं।

गंगानदी का जलस्तर शाम को 135.80 मीटर पर दर्ज किया गया। जबकि रामगंगा बिलो गेज पर पाई गई हैं। नरौरा बांध से गंगानदी मं 8761 क्यूसेक पानी पास किया गया तो वहीं हरिद्वार से 57650, बिजनौर से 27613 क्यूसेक पानी भेजा गया है। रामगंगा नदी में हरेली बैराज से 63, खो से 2760 और रामनगर बैराज से 151 क्यूसेक पानी पास किया गया। कालागढ़ से पास किए गए पानी की मात्रा 225 क्यूसेक है। गंगा नदी में अचानक जलस्तर की बढ़ोत्तरी से शमसाबाद तराई के अलावा गंगापार इलाके में हड़कंप मच गया है। गांव के लोग अभी से बचाव के लिए तैयारी में जुट गए हैं। सबसे अधिक चिंतित गांव के लोग हैं। 60 से अधिक गांव नदी के मुहाने पर ही बसे हैं। इन लोगों के सामने सर्वाधिक खतरा है। वहीं डीएम ने अलादादपुर भटौली में कटान का जायजा लिया। यहां पर एसडीएम ने बताया कि पिछले वर्ष कटान को देखते हुए आस पास के ग्रामीणों के नाम आवासीय पट्टे किए गए थे। अभी भी कुछ किसान जगह खाली नहीं कर रहे हैं। डीएम ने ग्रामीणों को समझाया कि कटान को देखते हुए जगह खाली कर दें। आवंटित पट्टों पर घर बनाकर रहें जिससे कि जान माल का खतरा न हो। उन्होंने कहा कि सिंचाई विभाग से जांच कराकर कटान रोकने को कार्रवाई कराई जाएगी।

संबंधित खबरें