DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  देसी शराब का नकली कारखाना पकड़ा , भारी मात्रा में शराब मिली
फर्रुखाबाद कन्नौज

देसी शराब का नकली कारखाना पकड़ा , भारी मात्रा में शराब मिली

हिन्दुस्तान टीम,फर्रुखाबाद कन्नौजPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 06:01 AM
देसी शराब का नकली कारखाना पकड़ा , भारी मात्रा में शराब मिली

फर्रुखाबाद। संवाददाता

पुलिस ने आबकारी टीम के साथ अलीदासपुर मोड़ के नजदीक एक मकान में छापा मार दिया। यहां नकली शराब के चल रहे कारखाने को पकड़ लिया गया। भारी मात्रा में पुलिस ने शराब बरामद की है। ्पि्ररट भी पाई गई है। पुलिस मुख्य कारोबारी को ढूंढ रही है। आवकारी टीम ने कोतवाली पुलिस के साथ अलीदासपुर मोड़ पर एक मकान में छापा मारा। यहां चारो ओर मकान की बाउंड्री थी और एक कमरा बना था।

जब पुलिस अंदर की ओर पहुंची तो देखा कि नकली शराब का कारखाना चल रहा है। पैकिंंग हो रही थी। इस पर पुलिस ने यहां मौजूद लोगों को निगरानी में लिया और भारी मात्रा में अवैध शराब बनाने का सामान कब्जे में लेकर कोतवाली ले आए। कोतवाली के इंस्पेक्टर ने बताया कि 34 पेटी देसी शराब के पउए बरामद किए गए हैं। इसके अलावा 14 खाली कट्टी और 9 कट्टी भरी हुई जिसमें करीब 450 लीटर ्पि्ररट बरामद की गई है। पांच पउए की झालें, तीन बोरी ढक्कन भी बरामद हुआ है। बब्बर शेर मार्का का रेपर नकली शराब पर लगाया जा रहा था। उन्होंने बताया कि पांच बोतल कलर भी मिला है जिसका प्रयोग शराब बनाने में किया जा रहा था। पुलिस ने इस मामले में दीनदयाल बाग निवासी सूरज और विकास व भोलेपुर निवासी राजकुमार को पकड़ लिया है। यह मकान राजकुमार का है। उसने पुलिस को बताया कि चांदपुर के एक व्यक्ति ने तीन माह पहले 11 हजार रुपए में मकान को किराए पर लिया था। पुलिस अब चांदपुर के उस व्यक्ति को तलाश रही है जो शराब के अवैध कारोबार में लिप्त है। उन्होंने बताया कि इसमें चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा। शराब के अवैध कारोबार मेे जो लोग हैं उन्हेें गिरफ्तार करने के लिए पुलिस टीम काम कर रही है। जल्द ही मुख्य आरोपित को पकड़ लिया जाएगा। उन्होने बताया कि भारी मात्रा में अवैध शराब बनाने का जखीरा बरामद हुआ है। वहीं आवकारी की टीम इसमें आगे की कार्रवाई करने में लगी हुई है। उधर पुलिस को पकड़े गए लोगो ने बताया कि कच्चा माल शराब बनाने के लिए चांदपुर का ही व्यक्ति लाता था। यहां पैकिंग के बाद उसी के अनुसार सप्लाई होती थी।

संबंधित खबरें