Tuesday, January 25, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशनाक-कान, गले की दिक्कत हो तो लोहिया अस्पताल न आएं

नाक-कान, गले की दिक्कत हो तो लोहिया अस्पताल न आएं

हिन्दुस्तान टीम,फर्रुखाबाद कन्नौजNewswrap
Thu, 02 Dec 2021 11:40 PM
नाक-कान, गले की दिक्कत हो तो लोहिया अस्पताल न आएं

फर्रुखाबाद। संवाददाता

यदि आपके शरीर में नाक-कान, गले को लेकर दिक्कत है तो इलाज के लिए लोहिया अस्पताल न पहुंचे। क्योंकि यहां पर पिछले डेढ़ साल से ईएनटी सर्जन का पद खाली चल रहा है। बदले मौसम में नाक-कान, गला रोगी इलाज को छटपटा रहे हैं और मायूस होकर प्राइवेट क्षेत्र में महंगा इलाज कराने को मजबूर हो रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार अस्पताल में व्यवस्थाएं बेहतर करने में नाकाम साबित हो रहे हैं जिससे मरीजों को बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

मौसम का जो मिजाज बदला है उससे जहां खांसी, जुकाम और बुखार की दिक्कत है इसके साथ ही साथ नाक-कान, गला के रोगी भी बढ़े हैं। लोहिया अस्पताल में सुबह से ही मरीज इलाज को पहुंचते हैं। पर्चा बनवाकर जब नाक-कान, गले के इलाज को लेकर डॉक्टर की जानकारी करते हैं तो पता चलता है कि इसके डॉक्टर ही नहीं हैं। ऐसे मं परेशान होकर मरीज ओपीडी को छोड़कर प्राइवेट क्षेत्र में जाने को मजबूर हो रहे हैं। कई मरीज तो फिजीशियन को दिखाते हैं। फिजीशियन के पास भी सबसे ज्यादा भीड़ रहती है।

सीएमएस डॉ.राजकुमार गुप्ता का कहना है कि नाक, कान, गले के डॉक्टर की जल्द व्यवस्था की जाएगी इसके लिए प्रयास चल रहा है। वहीं दूसरी ओर अस्पताल में डॉक्टर समय से नहीं बैठ रहे हैं इससे मरीजों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सुबह 11 बजे तक अधिकांश डॉक्टर अपने कक्षों तक नहीं पहुंचते। मरीज उनके कक्षों के बाहर इंतजार करते हैं। कई मरीज तो फर्श पर लेटकर कराहते हैं। जिम्मेदार यहां की व्यवस्थाओं को मजबूत नहीं कर पा रहे हैं।

epaper

संबंधित खबरें