DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  कोरोना नें ईद पर बनने वाली शीर, सेंवई की मिठास उड़ाई

फर्रुखाबाद कन्नौजकोरोना नें ईद पर बनने वाली शीर, सेंवई की मिठास उड़ाई

हिन्दुस्तान टीम,फर्रुखाबाद कन्नौजPublished By: Newswrap
Wed, 12 May 2021 11:22 PM
कोरोना नें ईद पर बनने वाली शीर, सेंवई की मिठास उड़ाई

फर्रुखाबाद। संवाददाता

कोरोना संक्रमण के चलते लगे लॉक डाउन के चलते सभी बाजार बंद हैं। इसके चलते तरह-तरह की सेवई और मेवा ईद के मौके पर उपलब्ध हो पा रही है। इससे ईद पर बनने वाली शीर, सेवई की मिठास फीकी हो जाएगी।

ईद का त्यौहार मुसलमानों का सबसे बड़ा त्यौहार है। इसको लेकर मुसलमान एक वर्ष तक बेसब्री से इंतजार करते हैं। इसमें एक माह के कठिन रोजे रखकर इसकी तैयारी की जाती हैं। लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते ईद का त्यौहार इसकी भेंट चढ़ गया है। ईद के त्यौहार पर जो रौनक देखने को मिलती थी अब वह नहीं दिखाई पड़ रही है। बाजारों से लेकर घरों में सन्नाटा पसरा हुआ है। जिधर देखो उधर मायूसी छाई है। किसी प्रकार के कपड़ो की भी खरीद नही की गई है। लेकिन ईद के त्योहार को मीठी ईद भी कहा जाता हैं। ईद पर सबसे ज्यादा मीठे व्यंजन बनते हैं। इसमें लगभग दो दर्जन से अधिक प्रकार की सेंवई बनती हैं। जिसमे प्रमुख शीर, किमामी सेंवई और दूध की सेंवई होतीं है। सेंवई को बनाने में मेवा, खोया आदि का बड़ी मात्रा में प्रयोग होता है। लॉक डाउन के चलते न तो बाजार में अच्छी प्रकार की सेंवई मिल पा रहीं हैं और न ही मेवा और खोया उपलब्ध हो पा रहा है। जिसके चलते लोग परेशान हैं, कि इस बार ईद की सेंवई भी ठीक से नहीं बन सकेंगी। सेवई बनाने की सामग्री पूरी उपलब्ध न होने से सबसे ज्यादा परेशान महिलाएं हैं, जो ईद के मौके पर तरह-तरह की सेवई आदि व्यंजन बनाने का काम करती हैं। देखा गया है कि महिलाओं को तरह तरह के व्यंजन बनाने का बड़ा शौक रहता है। इस मौके पर वह व्यंजन बनाकर अपने परिवारजनों और रश्तिेदारों को आमंत्रित कर सेवई खिलाने का काम करते हैं। लेकिन कोरोना चलते अब यह संभव नहीं हो पा रहा है। इससे महिलाएं परेशान हैं।

संबंधित खबरें