DA Image
23 जनवरी, 2020|3:05|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संविदा कर्मचारियों ने उठाई हक की आवाज

संविदा कर्मचारियों ने उठाई हक की आवाज

संयुक्त संविदा कर्मचारी बेरोजगार महागठबंधन के आह्वान पर अनुदेशक, प्रेरक, शिक्षामित्र, बीएड धारक, पशुमित्र, कस्तूरबा गांधी विद्यालय के कर्मी एकजुट हो गए। उन्होंने कलेक्ट्रेट में अपने हक की आवाज उठाई। इस दौरान प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम मांग पत्र डीएम केा दिया गया। विभिन्न संगठनों की ओर से दिए गए मांग पत्र में प्रेरकों के 40 माह के बकाया मानदेय को दिए जाने की मांग जोरदारी से उठाई गई। पदाधिकारियों ने कहा कि शारीरिक शिक्षा में अनुदेशक की भर्ती जल्द की जाए। शिक्षामित्रों को अघ्यादेश लाकर नियमित शिक्षकों की भांति समायोजित किया जाए। पदाधिकारियों ने आंगनबाड़ी कार्य्त्रिररयों को राज्य कर्मचारी का दर्जा दिए जाने, कस्तूरबा गांधी विद्यालय के सभी कर्मियों को नियमित करने और रोजगार सेवकों को न्यूनतम वेतनमान दिए जाने की मांग उठाई। पशुपालन विभाग के पशुमित्रों को भी नियमित वेतनमान दिए जाने की मांग की गई है। इस मौके पर अवधेश शुक्ला, सर्वेश, सोनी, ज्योति, सोनिका, राजेश चंद्र, शैलेंद्र, शीतल, पूनम कुमारी, जगवीर, सुनीता शाक्य, प्रदीप, विजय आदि मौजूद रहे।