DA Image
6 दिसंबर, 2020|7:00|IST

अगली स्टोरी

डीएम के सामने कोल्डस्टोरेज मालिक व किसानों में नोकझोंक

डीएम के सामने कोल्डस्टोरेज मालिक व किसानों में नोकझोंक

जिलाधिकारी की उपस्थिति में शीतगृह स्वामियों, किसानों और आढ़तियांे की बैठक में किसानों का दर्द फूट गया। शीतगृहों में किसानों के हो रहे उत्पीड़न के अलावा मंडी में आलू के भाव अंगौछे के अंदर तय किए जाने का मसला जोरदारी से उठाया गया। डीएम और सीडीओ ने यहां पर अंगौछे के भीतर आलू के रेट तय होने पर हैरानी जताई। मंडी समिति के सचिव से जब पूछा गया तो वे भी मजबूती के साथ कोई जवाब नहीं दे सके। बैठक में शीतगृह स्वामियों और किसानों के बीच घटतौली को लेकर विवाद की स्थिति बन गई। जैसे तैसे मामले को शांत किया गया।

किसान नेता अशोक कटियार की पहल पर डीएम मोनिका रानी ने कलेक्ट्रेट में दोपहर में शीतगृह स्वामिेयांे के साथ ही आढ़तियों व किसानों की बैठक में लाइसेंस नवीनीरण,भंडारण शुल्क और आलू के फेके जाने के मसले पर चर्चा की। लाइसेंस नवीनीकरण की जिला उद्यान अधिकारी नेपालराम से जानकारी की तो पता चला कि अभी सिर्फ 13 लोगों ने ही नवीनीकरण के आवेदन किए हैं। डीएम ने शीतगृह स्वामी को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि वे आलू को शीतगृह कैंप अथवा आस पास में ही गड्ढा खुदवाकर निस्तारित करें वरना उन्हें पुलिस को लगाना पड़ेगा।

शीतगृह स्वामियों ने बताया कि आलू शीतगृह मंे अब खत्म हो गया है इस पर किसान नेता अशोक कटियार ने बताया कि अभी भी भारी मात्रा में आलू कोल्ड स्टोरेज में है जिसे रात में मुख्य मार्गो पर फेंक दिया जाता है इससे लोगों का निकलना दूभर है। किसानों ने आलू की घटतौली का मसला उठाया तो इस पर शीतगृह स्वामियों ने एतराज जताकर शोर शराबा शुरू कर दिया। डीएम ने दोनों पक्षों को समझाया। आलू मंडी में इलैक्ट्रानिक कांटे से ही आलू की खरीद कराए जाने की मांग उठाई गई। किसानों ने जब अंगौछे के अंदर आलू के भाव तय होने का मसला उठाया तो डीएम ने मंडी सचिव से इसको लेकर जानकारी की। मंडी सचिव ने बताया कि 10-12 साल पहले मंडी समिति ही बोली लगाती थी मगर अब किसान और आढ़ती मिलकर भाव तय करते हैं। इस पर कई किसान खड़े हो गए और इस व्यवस्था को बंद कराने की मांग उठाई। आलू निर्यातक सुधीर शुक्ला ने किसानों से जुडे़ कई मसलों को उठाया। उन्होंने आलू का निर्यात कराए जाने और दो पैक हाउस स्वीकृत कराए जाने की मांग उठाई। बैठक में कई दफा किसानों और शीतगृह स्वामियों में विवाद की स्थिति बन गई। मंडी सचिव से किसानों से जुड़ी सुविधाओं के बारे में जानकारी की गई।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Coldstorage owners and farmers in front of DM