ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशबूंदाबांदी से बढ़ी ठिठुरन, अभी अलाव के इंतजाम तक नहीं

बूंदाबांदी से बढ़ी ठिठुरन, अभी अलाव के इंतजाम तक नहीं

फर्रुखाबाद, संवाददाता। अचानक हुई बूंदाबांदी से ठिठुरन बढ़ गई लेकिन अभी जिले में सर्दी...

बूंदाबांदी से बढ़ी ठिठुरन, अभी अलाव के इंतजाम तक नहीं
हिन्दुस्तान टीम,फर्रुखाबाद कन्नौजFri, 01 Dec 2023 12:20 AM
ऐप पर पढ़ें

फर्रुखाबाद, संवाददाता।

अचानक हुई बूंदाबांदी से ठिठुरन बढ़ गई लेकिन अभी जिले में सर्दी से निपटने के पर्याप्त इंतजाम नहीं किए गए हैं। बूंदाबांदी से आम लोगों की भी मुश्किलें बढ़ गई हैं। मौसम कहीं अधिक बिगड़ा तो आलू किसानों के सामने संकट खड़ा हो जाएगा । सर्दी को देखते हुए बाजारों में गर्म कपड़ों की खरीदारी बढ़ गई है। नवंबर का महीना बीतने को है। दिसंबर महीने के आगाज से पहले ही मौसम ने अपना रुख साफ कर दिया है।

गुरुवार को अचानक सुबह को हुई बूंदाबांदी होने से सर्दी बढ़ गई। मौसम बिगड़ा और बूंदाबांदी शुरू हुई तो किसानों की भी धुकधुकी बढ़ गई। हालांकि बूंदाबांदी होकर रुक गई जिससे किसानों ने राहत की सांस ली। सुबह के समय हुई बूंदाबादी के कारण आलू की खुदाई पर भी असर देखने को मिला। जो किसान सुबह को आलू की खुदाई करने की सोच रहे थे उन्होंने आलू की खुदाई रोक दी। जिन किसानों की आलू की खुदाई सुबह बूंदाबांदी शुरू होने से पहले शुरू हो गई थी उनको भी खुदाई रोकनी पड़ी । कुछ समय बाद धूप खिल गई ऐसे में फिर से आलू की खुदाई शुरू हो गई। गोशालाओं में सर्दी से पहले गोवंशों के लिए सर्दी से बचाव को अभी पर्याप्त इंतजाम नहीं किए गए। सुबह बूंदाबादी हुई तो कई गोशालाओं में टिनशेड के बाहर बैठे गोवंश भीग गए। हालांकि कुछ देर बाद धूप निकली तो गोवंशों ने भी राहत की सांस ली। कई गोशालाओं में देखा गया है कि हवा को रोकने के भी पूरे इंतजाम नहीं हैं। ऐसे में जैसे जैसे सर्दी बढ़ेगी गोवंशों की मुश्किलें बढ़ेंगी। सर्दी बढ़ने से जानवरों की नहीं लोगों की भी मुश्किलें बढ़ने वाली हैं। लोग सर्दी से बचाव को लेकर गर्म कपड़ों की खरीद में लगे रहे। बाजारों में जमकर गर्म कपड़ों की खरीद हो रही है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें