DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंक हड़ताल से 200 करोड़ का लेन-देन प्रभावित

बैंक हड़ताल से 200 करोड़ का लेन-देन प्रभावित

1 / 3यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के आह्वान पर बैंक कर्मियों ने अपनी दो दिवसीय हड़ताल शुरू कर दी है। हड़ताल के पहले दिन बुधवार को बैंक कर्मियों ने बैठक कर जुलूस निकाला और प्राइवेट क्षेत्र की बैंकों को बंद...

बैंक हड़ताल से 200 करोड़ का लेन-देन प्रभावित

2 / 3यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के आह्वान पर बैंक कर्मियों ने अपनी दो दिवसीय हड़ताल शुरू कर दी है। हड़ताल के पहले दिन बुधवार को बैंक कर्मियों ने बैठक कर जुलूस निकाला और प्राइवेट क्षेत्र की बैंकों को बंद...

बैंक हड़ताल से 200 करोड़ का लेन-देन प्रभावित

3 / 3यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के आह्वान पर बैंक कर्मियों ने अपनी दो दिवसीय हड़ताल शुरू कर दी है। हड़ताल के पहले दिन बुधवार को बैंक कर्मियों ने बैठक कर जुलूस निकाला और प्राइवेट क्षेत्र की बैंकों को बंद...

PreviousNext

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के आह्वान पर बैंक कर्मियों ने अपनी दो दिवसीय हड़ताल शुरू कर दी है। हड़ताल के पहले दिन बुधवार को बैंक कर्मियों ने बैठक कर जुलूस निकाला और प्राइवेट क्षेत्र की बैंकों को बंद कराया। त्रिपोलिया चौक पर धरना देकर केंद्र सरकार और वित्त मंत्री के खिलाफ जोरदार ढंग से नारेबाजी की। सुबह को हड़ताली बैंक कर्मी रेलवे रोड पर एसबीआई शाखा पर एकत्र हुए। यहां हड़ताल को सफल बनाए जाने के लिए एकता की हुंकार भरी और फिर इसके बाद जुलूस लेकर सबसे पहले आईसीआई बैंक पहुंचे।

यहां पर हड़ताली कर्मियों ने बैंक के अंदर घुसकर नारेबाजी की और बैंक बंद कराने का अनुरोध किया। इस पर वहां के कर्मचारियों ने अपनी बात रखी लेकिन फिर बाद में हडृताली कर्मियों की बात को देखते हुए बैंक का शटर गिरा दिया। इसके बाद हड़ताली कर्मी चौक पर पहुंचे। यहां पर धरना देकर केंद्र सरकार और वित्त मंत्री के खिलाफ नारेबाजी की। यहां से विरोध प्रदर्शन करते हुए बैंक कर्मी आर्यावर्त ग्रामीण बैंक कोठापार्चा की शाखा पर पहुंचे। यहां भी बैंक को बंद कराया और फिर चले आए। इसके बाद ठंडी सड़क पर एक्सिस और लालगेट पर एचडीएफसी की शाखा को भी बंद कराया गया। लेकिन हड़ताली कर्मचारियों के निकलते ही प्राइवेट बैंकों ने अपने शटर उठा लिए। वहीं कर्मचारियों को साथ सभा को संबोधित करते हुए संयोजक केदारशाह ने सरकार की मनमानी तथा सरकार द्वारा दो प्रतिशत की वेतनवृद्धि को हास्यास्पद बताते हुए सरकार को संभल जाने की जनसीहत दी। कहा कि देश की सारी योजनाएं लागू करने का काम बैंक कर्मी ही कर रहे हैं और बैंक कर्मियों को उसका वास्तविक पारिश्रमिक सरकार द्वारा नहीं दिया जा हरा है। ऐसे में अन्याय हो रहा है इसका हम सब लोग डटकर मुकाबला करेंगे। यदि सरकार ने सकारात्मक रवैया नहीं अपनाया तो आर पार की लड़ाई लड़ी जाएगी। मुकेश गुप्ता ने कहा कि इस समय हम सब लोगों को मजबूती के साथ खड़ा होना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bank strike strikes 200 crore affected