अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंतरजनपदीय पांच डकैत समेत सुनार गिरफ्तार

अंतरजनपदीय पांच डकैत समेत सुनार गिरफ्तार

कायमगंज, कंपिल समेत कन्नौज व एटा में डकैती, चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले पांच शातिर छैमार डकैतों समेत भोगांव के एक सुनार को पुलिस की टीमों ने गिरफ्तार कर लिया। इनकी निशानदेही पर लूट का सात लाख रुपए का जेवर, तमंचा, कारतूस व अन्य उपकरण बरामद कर लिए गए। गिरोह के अन्य सदस्यों के नाम भी पता लगे हैं जिनकी धरपकड़ क ा भी अभियान चलाया जाएगा।

पुलिस लाइन के सभागार में एएसपी त्रिभुवन सिंह ने बताया कि कायमगंज के रायपुर व कंपिल के रुदायन क्षेत्र में डकैती डालने वाले छैमार गिरोह के सदस्य रज्जाक उर्फ कासिम मुल्ला उर्फ उस्ताद, सनी उर्फ राधे निवासी गडका कासगंज, इस्माइल उर्फ वाहिद निवासी दबौरा थाना गढ़िया शाहजहांपुर, इशरत उर्फ चेयरमैन, समेत बुरावली अहमदपुर अमरोहा के एक युवक को कायमगंज कोतवाली क्षेत्र के ढमढेरा पुलिया के पास से मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया गया। इनके पास से तमंचा, कारतूस, लोहे की रॉड व डंडे बरामद किए गए। पकड़े गए डकैतों की निशानदेही पर मैनपुरी के थाना भोगांव निवासी सर्राफा व्यापारी रामबाबू वर्मा को भी पकड़ लिया गया। इन लोगों के पास से सात लाख रुपए के सोने चांदी के जेवरात बरामद हुए। एएसपी ने बताया कि लुटेरों ने कायमगंज, कंपिल में डकैती, मेरापुर में दो बड़ी चोरी की वारदातों क ो अंजाम दिया था। वहीं कन्नौज जिले की कोतवाली छिबरामऊ में नौ चोरी व सौरिख में तीन चोरी समेत एटा के जैथरा थाना में एक चोरी की वारदात को अंजाम दिया था। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार करने वाली टीम को ईनाम दिया जाएगा।

टीम में यह लोग रहे शामिल

छैमार डकैतों व सर्राफ को पकड़ने वालों में स्वाट टीम प्रभारी कुलदीप दीक्षित व टीम में सतेंद्र यादव, सचेंद्र सिंह, अजय तोमर, निशांत यादव, अनुज तिवारी, विनय चौहान, सुनील दुबे, ललित कुमार, रवि यादव, नवनीत कुमार, राजवीर सिंह, नरेंद्र सिंह व संदीप राव शामिल रहे। दूसरी टीम में कायमगंज इंस्पेक्टर जसवंत सिंह, कंपिल एसओ महेंद्र त्रिपाठी और वहां का स्टाफ रहा।

भोगांव पुलिस ने शांतिभंग में बंद कर था छोड़ा

छैमार गिरोह के यह शातिर लुटेरे रेलवे स्टेशन व कांशीराम कालोनी के आस पास झोपड़ी डालकर रहने लगते हैं। भीख मांगकर घूमते समय घरों को चिन्हित करते थे। रात में बस, रिक्शा से पहुंचकर आरी से डंडे काट लेते थे। ब्लेड, छैनी, हथौड़ा, टार्च व शराब खरीदते थे। घटना को अंजाम देने से पहले काली मां की पूजा करते थे। कपड़े, चप्पल, जूता वहीं उतारकर कच्छा बनियान पहनकर लूट की वारदात को अंजाम देते थे। कायमगंज व कंपिल में डकैती डालने के बाद यह लोग शराब पीने व जेवर बेचने के लिए भोगांव गए थे। जहां रुपए मिलने पर सभी ने खूब शराब पी और टेम्पो में बैठकर शोर मचा रहे थे। चालक ने इसकी सूचना भोगांव पुलिस को दे दी। पुलिस ने पांचो छैमार डकैतों को पकड़ लिया और सभी का शांतिभंग में चालान किया। इनके पास से 35 हजार की नगदी बरामद हुई थी जो अभी तक भोगांव थाने में जमा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:arrests five