Arhar dal - अरहर दाल, मिर्च पाउडर भी नहीं बचा खाने लायक DA Image
22 नवंबर, 2019|5:05|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अरहर दाल, मिर्च पाउडर भी नहीं बचा खाने लायक

खाने पीने की वस्तुओं की अब शुद्धता नहीं रह गई है। खाद्य प्रयोगशाला से जिस तरीके से नमूनो की रिपोर्ट आ रही है उससे तो यही लग रहा है। अब अरहर की दाल और मिर्च पाउडर के साथ ही सूतफेनी और छेने के नमूने फेल होने की रिपोर्ट आ गई है। इस पर खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग ने सात दुकानदारों के खिलाफ अदालत में वाद दर्ज कराने की तैयारी कर ली है।

अभिहित अधिकारी सतीश कुमार ने बताया कि गत माह जो नमूने लिए गए थे उनमें पल्ला मंडी के गुलशन कुमार के मन्नीगंज स्थित प्रतिष्ठान से अरहर दाल के नमूना फेल होने की रिपोर्ट आई है। इसमें सिंथेटिक कलर पाया गया। पांचालघाट के नेताजी जनरल स्टोर से मिर्च पाउडर का जो सैंपल लिया गया था उसमें भी सिंथेटिक कलर पाया गया है। कमालगंज के राजकुमार की अमन मिष्ठान भंडार से छेना, राजेश कुमार के प्रतीक मिष्ठान भंडार से छेना, कायमगंज के अशोक सक्सेना के रेलवे रोड स्थित प्रतिष्ठान से बेसन का लड्डू, संकिसा रोड के प्रवीन सक्सेना के प्रतिष्ठान से सूतफेनी और मदारवाड़ी के भानुप्रकाश गुप्ता के प्रतिष्ठान से छेना का सैंपल अधोमानक आया है। उन्होंने बताया कि सभी दुकानदारों को नोटिस भेजा जाएगा और सक्षम न्यायालय में वाद दायर किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Arhar dal