ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशचुनाव निपटने के बाद कार्यालय सूने , थकान मिटा रहे समर्थक

चुनाव निपटने के बाद कार्यालय सूने , थकान मिटा रहे समर्थक

फर्रुखाबाद, संवाददाता। लोकसभा चुनाव निपटने के बाद पार्टी और चुनाव कार्यालय में सन्नाटा सा...

चुनाव निपटने के बाद कार्यालय सूने , थकान मिटा रहे समर्थक
हिन्दुस्तान टीम,फर्रुखाबाद कन्नौजWed, 15 May 2024 12:10 AM
ऐप पर पढ़ें

फर्रुखाबाद, संवाददाता।

लोकसभा चुनाव निपटने के बाद पार्टी और चुनाव कार्यालय में सन्नाटा सा पसरा रहा। मंगलवार को विभिन्न दलों के चुनाव कार्यालयों में गहमा गहमी पूरी तौर पर गायब थी। कई प्रत्याशी और उनके समर्थक थकान मिटाने को घरों में ही पूरे दिन बने रहे। शाम को जरूर प्रत्याशी और उनके समर्थकों ने अपने खास शुभचिंतकों से बातचीत की। लोकसभा निर्वाचन में जहां केंद्रीय कार्यालयों से लेकर पार्टी कार्यालयों में गहमा गहमी का माहौल रहता था उन कार्यालयों में चुनाव निपटने के बाद पूरी तौर पर सूनापन छा गया। सुबह जरूर कुछ समय के लिए संवीक्षा के दौरान मंडी स्थल पर कुछ प्रत्याशी पहुंचे थे उसके बाद घरों में आकर थकान मिटाने का काम किया। देर रात तक प्रत्याशी और उनके समर्थक मतदान के आंकड़ों को लेकर उलझे रहे। भाजपा प्रत्याशी मुकेश राजपूत के चुनाव कार्यालय में मंगलवार को दोपहर पूरी तौर पर सन्नाटा था तो वहीं समाजवादी पार्टी के केंद्रीय कार्यालय में भी इसी तरह की स्थिति थी। बसपा प्रत्याशी का चुनाव कार्यालय भी सूनसान था। इसके साथ ही पार्टी दफ्तरों में किसी प्रकार की कोई हलचल नहीं दिखयी पड़ी। इस बीच समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी डा. नवल किशोर रात में अपने केंद्रीय कार्यालय में डटे रहे। सुबह कायमगंज चले गये। वहां जाकर भी उन्होने अपने लोगों और पाटी के कार्यकर्ताओं से मतदान को लेकर बातचीत की । समर्थकों ने कई बूथों के बारे में उनके सामने पूरी रिपोर्ट रखी । इसके बाद अलीगंज क्षेत्र में भी पहुंचे जहां उन्होने कार्यकर्ताओं से बातचीत की । एटा के जिला अस्पताल में गये। यहां पर अपने समर्थक घायलों के बारे में जानकारी की । वहीं दूसरी ओर भाजपा प्रत्याशी मुकेश राजपूत सुबह कहीं नहीं निकले। शाम को जरूर अपने समर्थकों के साथ बैठकर चुनावी मंत्रणा की। पांचो विधानसभा क्षेत्रों में मतदान प्रतिशत को लेकर अपने प्रतिनिधि अनूप मिश्रा से जानकारी हासिल की। कार्यकर्ताओं से बातचीत के बाद भाजपा प्रत्याशी क्षेत्र में निकल गये। बसपा प्रत्याशी क्रांति पांडेय के चुनाव कार्यालय में पहले जैसी रौनक नहीं दिखायी पड़ी। उनके घर परिवार के सदस्य जरूर मौजूद थे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।