DA Image
30 अक्तूबर, 2020|1:04|IST

अगली स्टोरी

50 फीसदी बच्चे अभी भी ऑनलाइन पढ़ाई से दूर

50 फीसदी बच्चे अभी भी ऑनलाइन पढ़ाई से दूर

लाक डाउन के चलते माध्यमिक परिषद की तरफ से घर में बैठे छात्र छात्राओं के लिए वर्चुअल क्लासेस चलाकर कालेजों को 1 अप्रैल से 20 मई तक का निर्धारित पाठ्यक्रम पूरा कराने के लिए वर्चुअल क्लास से चला जाने के निर्देश दिए गए थे। अभी भी लगभग 50 फीसदी बच्चे आनलाइन पढ़ाई से दूर हैं। जनपद में 271 माध्यमिक विद्यालय हैं इनमें से अभी 200 के लगभग विद्यालय ही आनलाइन पढ़ाई करवा रहे हैं । छात्र छात्राओं की बात करें तो जिले के माध्यमिक विद्यालयों में लगभग डेढ़ लाख से अधिक छात्र-छात्राएं पंजीत है । इनमें से अभी तक सिर्फ 80 से 85 हजार छात्र-छात्राएं ही अनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं । कालेजों के प्रधानाचार्य विषयवार शिक्षकों के व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर बच्चों को बच्चों की पढ़ाई करवा रहे हैं। एंड्राइड मोबाइल न होने के कारण कुछ बच्चों अभिभावकों और संगठनों ने वर्चुअल क्लासेस पर सवाल उठाए थे। इसके बाद जिला विद्यालय निरीक्षक ने कीपैड वाले फोन में एसएमएस के जरिए भी आनलाइन पढ़ाई शुरू करा दी। इन सबके बाद भी अभी तक शत प्रतिशत बच्चे आनलाइन पढ़ाई नहीं जुड़ पा रहे हैं। डीआईओएस आदर्श कुमार त्रिपाठी ने बताया कि जो स्कूल आनलाइन पढ़ाई में रुचि नही ले रहे हैं वे अपने-अपने स्कूलों में पंजीकृत छात्र छात्राओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। सभी विद्यालयों को वर्चुअल क्लास से चला कर बच्चों को बच्चों के निर्धारित पाठ्यक्रम पूरा कराने के निर्देश दिए गए हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:50 percent children still away from online studies