Wednesday, January 26, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशकपड़ा, फुटवियर पर 12 फीसदी न की जाए जीएसटी

कपड़ा, फुटवियर पर 12 फीसदी न की जाए जीएसटी

हिन्दुस्तान टीम,फर्रुखाबाद कन्नौजNewswrap
Sun, 05 Dec 2021 11:30 PM
कपड़ा, फुटवियर पर 12 फीसदी न की जाए जीएसटी

फर्रुखाबाद। संवाददाता

व्यापार मंडल नेताओं ने कपड़ा व फुटवियर उद्योग के लिए जारी की गई टैक्स अधिसूचना को वापस लेने की मांग की गई। इस दौरान व्यापारी विधायक आवास पर पहुंचे और समस्या उठाई। उद्योग व्यापार मंडल मिश्रा गुट के पदाधिकारी विधायक अमर सिंह खटिक के बरझाला स्थित निवास पर पहुंचे। व्यापारी नेताओं ने कहा रोटी, कपड़ा, मकान, शिक्षा और स्वास्थ मनुष्य की मूलभूत आवश्यकताए है।

कृषि, स्वास्थ और शिक्षा पर कोई कर नहीं है। आवासीय घरो में सरकार सब्सिडी प्रदान कर रही है और कर की दर भी बहुत कम है। कपड़ा और फुटवियर एक वुनियादी जरूरत के साथ पूरे भारत के लोगो को रोजगार दे रहा है। कपड़ा और फुटवियर गरीब व्यक्तियो के लिए एक मूलभूत आवश्यकता है। न ही वैभव बढाने की बस्तु है। यह कानून पुर्णरूपेण अव्यवहारिक है। उन्होंने कहा इससे मेक इन इंडिया व आत्मनिर्भर भारत की बात भी कमजोर होगी। क्योकि इसमें निर्यात पर सीधा प्रतिकूल असर पड़ेगा। वर्तमान समय पर वियतनाम, इंडोनेशिया, बंगलादेश जैसे देशो की प्रतिस्पृधा में सक्षम नहीं हो पाए है। छोटे व्यापारियो की लागत बढ़ेगी और रोजगार में भी कमी आएगी। जीएसटी बढोत्तरी का असर सीधे उपभोक्ताओ पर होगा और महंगाई ग्रामीण स्तर तक बढ़ेगी। इसलिए टैक्सटाइल एव फुटवियर के रोजगार की प्राथमिकता को देखे व जो टैक्स पांच फीसदी से 12 फीसदी की अधिसूचना जारी की गई। उसे सरकार वापस ले। बढ़ोत्तरी पर व्यापारियों में आक्रोष व्याप्त है। इस दौरान व्यापारियों ने प्रधानमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन विधायक को सौपा। इस मौके पर जिला महामंत्री नरेश पालीवाल, नगर अध्यक्ष अमित कुमार, पिंटू राठौर, महामंत्री शिवकुमार शाक्य, कोषाध्यक्ष आयुष रस्तोगी, रवि गुप्ता आदि मौजूद रहे।

epaper

संबंधित खबरें