ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश24 घंटे बाद भी नही पंहुचे अधिकारी, ग्रामीणों ने एक कालम खोला

24 घंटे बाद भी नही पंहुचे अधिकारी, ग्रामीणों ने एक कालम खोला

अमानीगंज,संवाददाता। 24 से अधिक घंटे बीत जाने के बाद तमसा का बहाव बहाल नहीं

24 घंटे बाद भी नही पंहुचे अधिकारी, ग्रामीणों ने एक कालम  खोला
हिन्दुस्तान टीम,फैजाबादMon, 25 Sep 2023 03:01 AM
ऐप पर पढ़ें

अमानीगंज,संवाददाता। 24 से अधिक घंटे बीत जाने के बाद तमसा का बहाव बहाल नहीं हो सका। जब कोई अधिकारी मौके पर नही पहुंचा तो मजबूरन ग्रामीणों ने पुल के एक कालम के बंधे को हटाकर आंशिक बहाव खोला। हालांकि पूरी तरह से बहाव न खुलने के चलते अभी भी जलस्तर में कोई कमी नहीं आई है। जिससे पानी के अंदर डूबी धान की फसल के खराब होने का खतरा और बढ़ गया है। मिल्कीपुर तहसील क्षेत्र के अमावासूफी, बकौली, डीली सरैंया, कंदई कला गांव के निचले इलाकों में जल भराव की स्थिति है।

बात दें मिल्कीपुर तहसील क्षेत्र के कंदई कला अकौरा एवं सोहावल तहसील के रोहली गांव को जोड़ने के लिए पुल का निर्माण कार्य चल रहा है। निर्माण कार्य के चलते शनिवार को नदी के बहाव को रोक दिया गया है। जिसके कारण निचले इलाकों में नदी का जलस्तर बढ़ गया है। जिससे किसानों की खड़ी फसल डूब गई है । जानकारी के बावजूद प्रशासनिक अमले द्वारा नदी के बहाव को खुलवाने का कोई प्रयास नहीं किया जा रहा है ।अमावासूफी के किसान रामगोपाल पांडे का कहना है कि प्रतिवर्ष तमसा के निचले इलाकों में जल भराव से किसानों को भारी नुकसान होता है लेकिन कोई प्रशासनिक इमदाद नहीं मिलती। ग्रामीणों का कहना है कि नदी के बहाव को जल्द ही पूरी तरह से नहीं खुलवाया गया तो और भी फसलें पूरी तरह नष्ट हो जाएंगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।