ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश फैजाबादफिल्म 'मंडली' और डॉक्यूमेंट्री 'बिसाऊ की मूक रामलीला' को अवार्ड

फिल्म 'मंडली' और डॉक्यूमेंट्री 'बिसाऊ की मूक रामलीला' को अवार्ड

फिल्मों को अवार्ड के साथ 17वें अयोध्या फिल्म फेस्टिवल का समापन समापन समारोह में...

फिल्म 'मंडली' और डॉक्यूमेंट्री 'बिसाऊ की मूक रामलीला' को अवार्ड
हिन्दुस्तान टीम,फैजाबादSun, 03 Dec 2023 11:25 PM
ऐप पर पढ़ें

फिल्मों को अवार्ड के साथ 17वें अयोध्या फिल्म फेस्टिवल का समापन

समापन समारोह में दर्जन भर से अधिक फिल्मों को मिले विभिन्न अवार्ड

अयोध्या, संवाददाता। 20 फिल्मों के प्रदर्शन के साथ 17 वें अयोध्या फिल्म फेस्टिवल का रविवार को समापन हो गया। शहीदों और सांझी विरासत को समर्पित 'अवाम का सिनेमा' के जरिये शहर में देश विदेश की चुनिंदा फिल्मों का मेला इसी के साथ अगले वर्ष भी सजाने के वादे संग समाप्त हो गया। इस अवसर पर फिल्म 'मंडली' और डॉक्यूमेंट्री 'बिसाऊ की मूक रामलीला' को अवार्ड से नवाजा गया। फिल्म फेस्टिवल में ऑस्ट्रेलिया के अभिनेता चाल्र्स थॉमसन और ईरानी अभिनेत्री व कला निर्देशक सना नोरुजबीगी के अलावा भव्य शाह, वैभव भट्ट, बृजेश टांगी, लवलेश खनेजा, आदित्य वर्मा, मुकेश कुमार, ज्ञानेश पांडेय, नीरज भसीन मौजूद रहे।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे डॉ. चन्द्र प्रकाश त्रिपाठी ने कहा कि फ़िल्म उद्योग से जुड़े लोगों का अयोध्या में आना सुखद है। यह सौभाग्य अयोध्या का भी है कि जिन सितारों को लोग देखना चाहते हैं उनमें से तमाम चेहरे यहां मौजूद हैं। फिल्म सिटी प्रदेश में बन रही है। मगर अयोध्या में भी आपके सहयोग से एक फिल्म सिटी यकीनन यहां भी स्थापित होगी। विशेष सचिव आईएएस डॉ. हीरालाल ने कहा कि फिल्में संस्कृति को भी आगे बढ़ाती हैं। संस्कृतियों का संरक्षण हो या आपसी संवाद को गति देने के साथ ही स्थानीय मेधाओ को आगे ले जाने का मौका यह मंच देता है।

समारोह में जनार्दन पांडेय, डॉ. मोहनदास, डॉ. शाह आलम राना, अभिषेक शर्मा, अंतरिक्ष श्रीवास्तव, लव पाठक, आशीष अग्रवाल, मुकेश वर्मा, आदिल खान, धर्मेंद्र वर्मा, अमित सिंह, आदित्य प्रताप मल्ल, प्रिंसिपल गुरुनानक कॉलेज की मौजूदगी रही वहीं अंकिता पाठक, सुप्रिया श्रीवास्तव, प्रिंसी, पूजा मिश्रा, रिजवान, विद्यालय के बच्चों ने रंगोली बनाई। गुरुनानक प्रबंध कमेटी के प्रबंधक राजेन्द्र सिंह छाबड़ा, सचिव प्रतिपाल सिंह पाली, सीईओ मनदीप सिंह ऋषि मौजूद रहे।

इन फिल्मों को मिले अवार्ड

बेस्ट डॉक्यूमेंट्री बिसऊ की मूक रामलीला, बेस्ट फीचर फिल्म नवरस कथा कोलाज, बेस्ट फीचर फिल्म मंडली, बेस्ट एक्सपेरिमेंटल फिल्म मैला और वायरल प्रपंचम, बेस्ट चिल्ड्रेन फिल्म बाल नरेन, चिड़ियाखाना, बेस्ट डायरेक्टर सत्यशोधक के लिए नीलेश जालमकर और चल जिंदगी के लिए विवेक शर्मा को, बेस्ट डेब्यू डायरेक्टर मीर सरवर को बेड नम्बर 17 के लिए, मीर निमेष दुबे को जिंदगी कश्मकश के लिए। वहीं बेड नम्बर 17 के लिए बेस्ट एक्टर ऋषि भूटानी को तो बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर बृजेन्द्र काला को कृपया ध्यान दें के लिए मिला। बेस्ट स्टोरी आदित्य वर्मा ला वास्ते, बेस्ट शार्ट फिल्म रैट इन द किचन, बेस्ट एक्सपेरिमेंटल फिल्म वैन गोघ, गुड बाई फॉरएवर, बेस्ट मोबाइल फिल्म लिब्रा, बेस्ट एक्टर स्पेशल मेंशन रुद्र प्रताप ओझा को अगत्स्य के लिए, बेस्ट डॉक्यूमेंट्री स्पेशल मेंशन वृंदावन द लुमेन सैंक्चुअरी के अलावा अन्य कई पुरस्कार ज्यूरी की ओर से दिये गए।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें