DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  आसान नहीं है खरीद केंद्रों पर गेहूं की बिक्री

इटावा औरैयाआसान नहीं है खरीद केंद्रों पर गेहूं की बिक्री

हिन्दुस्तान टीम,इटावा औरैयाPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 05:01 AM
आसान नहीं है खरीद केंद्रों पर गेहूं की बिक्री

इटावा। संवाददाता

सरकार की ओर से किसानों का गेहूं सरकारी मूल्य पर खरीदने के लिए खरीद केंद्र खोले गए हैं लेकिन यहां गेहूं बेचना आसान नहीं है। इसके लिए किसानों को काफी परेशानी होती है। ट्रैक्टर में गेहूं लेकर खरीद केंद्र पर पहुंच जाते हैं और फिर कई दिनों तक इंतजार करते हैं तब उनका नंबर आता है। इसके बाद खातों में पैसा पहुंचने में भी देरी होती है। इन दिनों किसी किसान के घर में शादी है तो किसी को कोई अन्य जरूरी काम है लेकिन उनका ना तो गेहूं बिक रहा है और ना ही भुगतान हो रहा है, इससे खासे परेशान है। इसकी एक वजह ज्यादा संख्या में टोकन जारी हो जाना भी है।

बताया गया है किजनसेवा केंद्रों के द्वारा आठ सौ कुन्तल गेंहूँ के एक दिन में किसानों को में टोकन जारी कर देने से बकेवर खरीद केंद्र पर किसानों की भारी भीड़ हो रही है। अधिक टोकन जारी होने से केंद्र पर अव्यवस्था हो रही है। एक-एक दिन में आठ सौ कुन्तल तक की गेंहूँ की तौल के टोकन जन सेवा केंद्र से जारी हो रहे हैं जो खरीद केंद्र के लिए मुसीबत का कारण बने हुए हैं। किसानों व खरीद केंद्र प्रभारी के द्वारा नोकझोंक होती है। किसान सेवा सहकारी समिति पर पीसीएफ का सरकारी गेहूं खरीद केंद्र है। जिसपर किसानों के गेहूं की खरीद की जा रही है।हर रोज दर्जनों किसान ट्रैक्टर में गेंहूँ लादकर खरीद केंद्र पर सुबह से ही लाइन में लगे खड़े नजर आते हैं।दिनभर किसानों व खरीद केंद्र प्रभारी से गेहूं की तौल को लेकर नोकझोंक होती रहती है। खरीद केंद्र पर तीन चार सौ कुंतल प्रतिदिन तौल की क्षमता है। परंतु खरीद रजिस्ट्रेशन के बाद किसान जन सेवा केंद्र से ऑनलाइन टोकन जारी कराकर आते हैं उस टोकन में जो तारीख दी जाती है उसी तारीख पर किसान अपना गेहूं लेकर आता है। परंतु केंद्र पर तौल की खरीद की क्षमता तीन सौ से चार सौ कुंतल की है।

केंद्र प्रभारी राजीव गोयल ने बताया कि केंद्र पर हर रोज तीन सौ से चार सौ कुंतल गेंहूँ की तौल हो रही है। परन्तु जनसेवा केंद्रों पर से से जो टोकन जारी हो रहे हैं वह काफी अधिक है। इसके अलावा केंद्रो पर कभी बारदाना खत्म होने तो कभी भी गेंहूँ का उठान न होने के चलते पिछले सप्ताह खरीद का काम काफी प्रभावित रहा है और किसानों को कई कई दिन ट्रैक्टर खरीद केंद्र के बाहर लेकर खड़े रहना पड़ा है। अभी भी स्थिति में कोई खास सुधार नहीं है।

खरीद केंद्रों पर गेहूं की खरीद की जा रही है किसानों को यह सुविधा दी गई है कि वह अपना टोकन स्वयं जेनरेट कर लें। इसके साथ ही 15 जून तक गेहूं की खरीद जारी रहेगी और गेहूं खरीद केंद्र खुले रहेंगे। पूरा प्रयास है कि जो किसान गेहूं लेकर खरीद केंद्र पर जाएं उनका गेहूं खरीद लिया जाए और भुगतान भी समय से किसानों के खाते में पहुंच जाए। खरीद केंद्र पर तैनात कर्मचारियों से भी कह दिया गया कि कोई लापरवाही ना बरतें यदि लापरवाही करते हैं या शिकायत मिलेगी तो कार्यवाही की जाएगी।

-संतोष पटेल

जिला खाद्य विपणन अधिकारी

संबंधित खबरें