DA Image
21 अप्रैल, 2021|9:38|IST

अगली स्टोरी

लक्ष्य नहीं छू सकी गेहूं की खरीद

default image

जिले में सरकारी गेहूं खरीद का कार्य 30 जून को समाप्त हो गया। क्रय केंद्रों को दिए गए लक्ष्य को पूरा कराने के लिए सरकार द्वारा बढ़ाई गई 15 दिन की समय अवधि भी काम नहीं आई और जिले में खरीद एजेंसियां लक्ष्य के सापेक्ष सिर्फ 72.53 फीसदि खरीद ही कर सकीं। यह खरीद पिछले वर्ष की खरीद से भी 3.63 प्रतिशत कम है। ऐसे में माना जा रहा है कि खरीद पर कोरोना महामारी का प्रभाव पड़ा है और कई किसान अपनी उपज को बेचने के लिए केंद्र पर नहीं पहुंचे हैं। जिससे खरीद का प्रतिशत 72 पर अटक कर रह गया।

जिले में छह ऐजेसिंयों के 62 केन्द्रों पर इस बार गेहूं खरीद का काम शुरू किया गया था। दन केंद्रों को कुल 56 हजार 500 मीट्रिक टन गेंहू खरीद का लक्ष्य दिया गया था। 30 जून को खरीद खत्म होने के बाद जो आंकड़ा सामने आया उसमें यह सभी कें द्र मिलकर कुल 40981.094 मीट्रिक टन गेहूं की ही खरीद कर सके। जो लक्ष्य का 72.53 फीसदि है। कोरोना महामारी के चलते खरीद कम होने पर एजेंसियों ने कहा था कि किसान उपज बेचने के लिए घर से नहीं निकल रहे हैं। ऐसे में सरकार ने खरीद की अवधि 15 जून से बढ़ाकर 30 जून तक कर दी लेकिन इसके बाद भी स्थित में सुधार नहीं हुआ और खरीद एजेंसियां लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर सकीं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Purchase of wheat could not reach target