ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशअब सैफई में मरीजों को एनएबीएल उच्च गुणवत्तापूर्ण जांच रिपोर्ट

अब सैफई में मरीजों को एनएबीएल उच्च गुणवत्तापूर्ण जांच रिपोर्ट

इटावा,संवाददाता। जिले और आसपास के सभी जिलों में रहने वाले लोगों के लिए एक...

अब सैफई में मरीजों को एनएबीएल उच्च गुणवत्तापूर्ण जांच रिपोर्ट
हिन्दुस्तान टीम,इटावा औरैयाThu, 30 Nov 2023 11:05 PM
ऐप पर पढ़ें

इटावा,संवाददाता। जिले और आसपास के सभी जिलों में रहने वाले लोगों के लिए एक बहुत ही अच्छी खबर सामने आई है। सैंफई पीजीआई में अब राष्ट्रीय परीक्षण और अंशशोधन प्रयोगशाला प्रत्यायन बोर्ड (एनएबीएल) द्वारा सर्टिफाइड लैब रिपोर्ट मरीजों को मिलेगी जो कि उच्च गुणवत्ता की मानी जाती है।जिसमें मरीज के इलाज में भी गुणात्मक सुधार होगा यह जानकारी उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय के चिकित्सा अधीक्षक डॉ एसपी सिंह ने दी।

उन्होंने बताया कि इस तरह की गुणवत्तापूर्ण जांच रिपोर्ट बहुत ही चुनिंदा अस्पतालों में प्रदान की जाती है उसी क्रम में अब सैंफई पीजीआई भी शामिल हो गया है। इस उपलब्धि के लिए कुलपति डॉ प्रो. प्रभात कुमार ने भी लैब की गुणवत्ता के लिए कार्य करने वाले पूरी टीम को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि इस विशेष उपलब्धि के लिए डॉ एसपी सिंह ,डॉ पिंकी पांडेय,डॉ कल्वे जवाद, डॉ रूपक अग्रवाल,डॉ संजय कुमार कनौजिया, डॉ अजय गुप्ता, समस्त लैब टेक्नीशियन, रेजिडेंस डॉक्टर व स्टाफ की कड़ी मेहनत का नतीजा है जो एनएबीएल सर्टिफाइड लैब रिपोर्ट अब हमारे यहां उपलब्ध कराई जाएगी जो कि विश्वविद्यालय के लिए एक गर्व की बात है।

लैब निदेशक डॉ रूपक अग्रवाल ने कहा कि हमारे पीजीआई में इस लैब में होने वाली सभी जांच नियत समय पर और उत्कृष्ट मापदंडों के आधार पर प्रदान की जाएगी। लैब प्रभारी डॉ संजय कुमार कनौजिया ने कहा कि अब सभी जांच क्रिटिकल वैल्यू के आधार पर चिकित्सकों को सूचित की जाएगी और जिससे मरीजों के इलाज में किसी प्रकार का विलंब ना हो। लैब प्रभारी बायोकेमेस्ट्री डॉ अजय कुमार गुप्ता ने बताया कि अब सभी जांचों में गलतियों की संभावना न के बराबर रह जाएगी।

विभागाध्यक्ष पैथोलॉजी डॉ पिंकी पांडे व विभागाध्यक्ष बायोकेमेस्ट्री डॉ कल्वे जवाद ने इस उपलब्धि के लिए कुलपति ,प्रति कुलपति ,कुल सचिव महोदय व चिकित्सा अधीक्षक का आभार व्यक्त किया है।

लोगों के लिए एनएबीएल के लाभ

सटीक रूप से अंशांकित परीक्षण से वास्तविक रिपोर्ट का आश्वासन, परीक्षण करने वाले कार्मिकों में विश्वास, पुन: परीक्षण की आवश्यकता समाप्त हो जाएगी जिससे धन और समय की बचत होगी, प्रदान की गई सेवाओं से संतुष्टि।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें