DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गैरहाजिर शिक्षकों का काटा वेतन, हड़कंप

जिलेभर में बेसिक शिक्षा विभाग के विद्यालयों का निरीक्षण जारी है। इस दौरान गैरहाजिर पाए जाने वाले तथा अन्य अव्यवस्थाएं पाए जाने पर जिम्मेदार प्रधानाध्यापकों व शिक्षकों पर कार्रवाई की गई है। गैरहाजिरों का वेतन काटा गया है, जबकि अन्य अनियमितताओं में स्पष्टीकरण मांगा गया है। विद्यालयों में शिक्षकों की हाजिरी से लेकर स्पोर्ट्स किट, पुस्तकालय तथा साफ-सफाई का निरीक्षण किया जा रहा है।

महेवा क्षेत्र के जूनियर हाईस्कूल सराय जलाल में निरीक्षण के समय प्रधानाध्यापक गीता कुमारी, सहायक अध्यापक सीमा सक्सेना व अतहर हुसैन गैरहाजिर पाए गए। इनका एक दिन का वेतन काट दिया गया है। विद्यालय परिसर में काफी गंदगी पाई गई। स्पोर्ट्स किट, पुस्तकालय व कम्पोजिट ग्रांट के बारे में कोई भी संतोषजनक जानकारी नहीं दी जा सकी। इस पर प्रधानाध्यापक से एक सप्ताह में स्पष्टीकरण मांगा गया है।

प्राइमरी विद्यालय सराय जलाल के निरीक्षण के दौरान प्रधानाध्यापक अर्चना 2 जुलाई से बिना किसी चिकित्सीय परामर्श के चिकित्सा अवकाश पर पाई गईं। उनके चिकित्सा अवकाश का सिर्फ प्रार्थना पत्र मिला। इसलिए उनका 2 जुलाई से चिकित्सा अवकाश स्वीकृत होने तक का वेतन काट दिया गया है। विद्यालय में 137 में से सिर्फ 63 छात्र मौजूद थे। स्पोर्ट्स किट व कम्पोजिट ग्रांट के बारे में भी जानकारी नहीं मिल सकी। इस पर प्रधानाध्यापक से एक सप्ताह में स्पष्टीकरण मांगा गया है। महेवा ब्लॉक के अड्डा बिजौली के उच्च प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण किया गया। यहां सहायक अध्यापक रेखा बिना प्रार्थना पत्र के अवकाश पर थीं। प्रधानाध्यापक ने बताया कि उन्होंने व्हाट्सअप ग्रुप पर अवकाश की सूचना डाल दी है। स्पोर्ट्स किट व पुस्तकालय संतोषजनक नहीं मिले। प्रधानाध्यापक से एक सप्ताह में स्पष्टीकरण मांगा गया है।

प्राइमरी विद्यालय सराय मिट्ठे में सभी स्टाफ मौजूद मिला। स्पोर्ट्स किट की गुणवत्ता न्यून पाई गई। इस मामले में प्रधानाध्यापक से सात दिन में स्पष्टीकरण मांगा गया है। उच्च प्राथमिक विद्यालय सराय मिट्ठे में सभी शिक्षक मौजूद पाए गए। यहां भी स्पोर्ट्स किट गुणवत्ताविहीन पाई गई। इस पर प्रधानाध्यापक से सात दिन के अंदर स्पष्टीकरण मांगा गया है। महेवा क्षेत्र के ही प्राथमिक विद्यालय कोठी शेरपुर का भी निरीक्षण किया गया। यहां सहायक अध्यापक लक्ष्मी सविता एक जुलाई से बिना किसी प्रार्थना पत्र के गैरहाजिर पाई गईं। उनका एक जुलाई से 5 जुलाई तक का वेतन काट दिया गया है। पुस्तकालय की किताबों के विषय में प्रधानाध्यापक ने बताया कि एक सप्ताह में किताबें खरीद ली जाएंगी। कम्पोजिट राशि का उपयोग न करने पर स्पष्टीकरण मांगा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Non-stop teachers deduction wages stirred