DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › नवनिवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, दहेज हत्या का आरोप
इटावा औरैया

नवनिवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, दहेज हत्या का आरोप

हिन्दुस्तान टीम,इटावा औरैयाPublished By: Newswrap
Tue, 28 Sep 2021 05:30 AM
नवनिवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, दहेज हत्या का आरोप

इकदिल। संवाददाता

कस्बा के मुगलपुर नरैनी गांव में एक 22 वर्षीय नवविवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में रविवार की रात मौत हो गई। ससुरालीजन महिला को सीने में गांठ का इलाज कराने के लिए ग्वालियर ले जा रहे थे। पुत्री की मौत पर मायके वालों ने ससुरालीजनों पर इलाज में लापरवाही बरतने व दहेज को लेकर मारपीट कर हत्या करने का आरोप लगाया। सूचना पर पहुंचे अधिकारियों ने जांच पड़ताल के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

इकदिल के मुगलपुर नरैनी गांव के किराना की दुकान चलाने वाले महावीर की शादी नौ फरवरी 2020 को औरैया के थाना बिधूना, सलेमपुर गांव के देवेंद्र कुमार की बेटी सलोनी से हुई थी। उनकी एक पांच माह की बेटी भी है। पति महावीर ने बताया कि पत्नी के सीने में गांठ होने के कारण उसका इलाज चल रहा था, तीन दिन से अचानक तबीयत खराब होने के कारण ससुराल वालों को जानकारी देकर उसे कस्बा के एक प्राइवेट हॉस्पीटल में इलाज करा रहे थे। रविवार को हालत बिगड़ने पर शाम को जिला अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डाक्टरों ने सलोनी को कानपुर या ग्वालियर के अस्पताल में ले जाने की सलाह दी। महावीर के चचेरे भाई मनोज ने बताया कि परिजन मायके पक्ष के साथ सलोनी को ग्वालियर के अस्पताल में ले जाने लगे। तभी ग्वालियर पहुंचने से पहले रात को सलोनी ने अपने पिता देवेंद्र की गोद में दम तोड़ दिया और परिजन शव लेकर इकदिल आ गए। बेटी की मौत होने के बाद मायके पक्ष ससुरालियों पर दहेज हत्या का आरोप लगाने लगे। सूचना मिलने पर इकदिल थाना प्रभारी रमेश सिंह समेत मौके पर पहुंचे और मजिस्ट्रेट की निगरानी में शव को पोस्टमार्ट के लिए भिजवाया। सोमवार को इकदिल थाने में महिला के भाई विकास बाबू ने सलोनी के पति, सास, ननद व ननदोई के खिलाफ दहेज हत्या का आरोप लगा तहरीर दी। सीओ सिटी दरवेश कुमार ने बताया कि प्रथम दृष्टया महिला की मौत शरीर में इंफे क्शन फैलने से प्रतीत हो रही है। शव का पोस्टमार्टम करायसा गया है, रिपोर्टआने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। मायके वाले से मिली तहरीर पर जांच पड़ताल की जा रही है।

आरोप-पोस्टमार्टम के बाद दोबारा खोली गई बॉडी

सलोनी के पिता देवेंद्र व भाई विकास का आरोप है कि पोस्टमार्टम होने के बाद डाक्टरों ने सलोनी के को शव करीब साढ़े चार बजे दे दिया था। जब वह लोग गाड़ी में शव ले जाने लगे। तभी पोस्टमार्टम के कर्मी व डॉक्टर बाहर आए और शव को फिर से पोस्टमार्टम हाउस के अंदर ले गए। परिजनों ने जब पूछताछ की तो पोस्टमार्टम कर्मी व डॉक्टरों ने बताया कि वह शव की फोटो खींचने के लिए ले जा रहे है। आरोप है कि पोस्टमार्टम के अंदर कर्मी शव को करीब आधे घंटे से अधिक समय तक अंदर रखे रहे।

25 दिन पहले ही आयी थी ससुराल

मृतका सलोनी के पिता देवेन्द्र का आरोप है कि बेटी के ससुराल वाले अतिरिक्त दहेज में एक लाख रुपए व सोने की चैन की मांग को लेकर उसके साथ मारपीट करते थे। जिसके चलते चार महीने से बेटी मायके में रह रही थी। दामाद महावीर जिद करके सलोनी को 25 दिन पहले ही वापस ससुराल ले गया था। रविवार को जानकारी दी कि उसकी तबियत खराब है। इस पर वह लोग सलोनी की ससुराल पहुंचे जहां पुत्री की हालत गंभीर थी। ग्वालियर ले जाते समय उसकी मौत हो गई। पिता का यह भी आरोप है कि बेटी के शरीर पर मारपीट के निशान थे।

संबंधित खबरें