DA Image
4 जून, 2020|6:48|IST

अगली स्टोरी

खातों में नही पहुंची रकम, बैंकों में छाया रहा सन्नाटा

default image

सरकार के निर्देश पर गुरूवार को रामनवमी की छुट्टी के दिन बैंक तो खुले लेकिन उम्मीद के विपरीत बैंकों में सन्नाटा छाया रहा। सरकार ने जनधन खाताधारकों तथा श्रमिकों को बैंकों के माध्यम से आर्थिक राहत देने का ऐलान किया है। इसके चलते गुरुवार को बड़ी संख्या में लोगों के बैंकों में पहुंचने की संभावना थी लेकिन ज्यादातर बैंकों में सन्नाटा छाया रहा क्योंकि जनधन खातों में अभी सरकारी राहत पहुंची ही नहीं है।

लॉकडाउन में लोगों को आर्थिक रूप से परेशानी न हो इसके लिए महिला जनधन खाता धारकों के खातों में पांच सौ रुपए और श्रमिकों के खातों में एक हजार रूपए भेजे जाने की घोषणा की गई थी। इसे लेकर बैंकों को छुट्टी के दिन भी खोलने के निर्देश दिए गए थे। इन निर्देशों पर बैंकें तो खुल गईं लेकिन खाताधारक नहीं पहुंचे। महिला जनधन खातों में जो पांच सौ रुपए भेजे जाने की घोषणा की गई थी उसके अनुरूप अभी इन खातों मे रकम नहीं पहुंची है। इससे संबंधित सॉफ्टवेयर कम्पनी के विजयपाल शर्मा का कहना है कि गुरुवार से जनधन खातों में रकम डालने का काम शुरू होगा और रकम डाले जाने के बाद उसके भुगतान का कार्य तीन अप्रैल से शुरू होगा। सुबह कुछ जनधन खाताधारक बैंक में पहुंचे तो उन्हे बता दिया गया कि अभी इस खाते में रकम ही नहीं आई है। भारतीय स्टेट बैंक की मुख्य शाखा में आम तौर पर भीड़ रहती है और लम्बी लाइन भी लगी रहती है लेकिन गुरुवार को यहां सन्नाटा छाया रहा। पंजाब नेशनल बैंक, बड़ौदा बैंक, बैंक ऑफ इंडिया और यूनियन बैंक भी भीड़ नही रही। कुछ लोग आए और रुपए निकालकर चले गए। उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए बैंक मित्र शाखा भी हैं। इन शाखाओं में भी कुछ लोगों ने गुरुवार को पहुंचकर रकम निकाली।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Amounts not reached in the accounts silence prevails in banks