DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फर्जी भुगतान करने वाले अधिकारी पर करें सख्त कार्रवाई

दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम की कार्यशाला शनिवार को कलक्ट्रेट परिसर स्थित सभागार में आयोजित हुई। कार्यशाला में आगरा से आए निदेशक राकेश कुमार ने उर्जामंत्री के दिशा-निर्देशों के बारे में बताया। साथ ही जनपद में निबार्ध आपूर्ति के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाने के निर्देश दिए।निगम के निदेशक ने कहा कि उर्जामंत्री के टयूटर हैंडिल पर प्राप्त शिकायतों का तत्काल निस्तारण करें। नोडल अधीक्षक अभियंता पारेषण विंग से संपर्क कर बेहतर आपूर्ति सुनिश्चित कराएं। एसई, एक्सईएन क्षेत्रीय सांसद, विधायकों के संपर्क में रहें। उनकी शिकायतों का तत्परता से निस्तारण किया जाए। स्थापित परिवर्तकों के अनुरक्षण एवं क्षतिग्रस्तता लोड बैलेंसिंग समय-समय पर मानक के अनुरूप रखें। उन्होंने कहा कि सुपरवाइजर अपने क्षेत्र के मीटर रीडरों की क्षेत्रवार मानीटरिंग आवश्यकता अनुसार उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। शत-प्रतिशत रीडिंग आधारित बिल प्रेषण एवं बिलिंग करते हुए उपभोक्ताओं को निरंतर बेहतर सुविधा प्रदान की जाए। मीटर रीडर नियमित रूप से जेई के संपर्क में रहेंगे। पांच किलोवाट से अधिक कनेंक्शनों की समीक्षा कर श्रेणीवार वसूली सुनिश्चित करें। विद्युत चोरी के मामलों में अधिकतम, कंपाउंडिंग राजस्व निर्धारण सुनिश्चित करें। संभावित दुर्घटना क्षेत्र एवं विद्युत चोरी बाहुल्य क्षेत्र में एबीसी केबिल लगाना सुनिश्चित करें। उससे हाई लॉस पोषकों की लाइन हानियां कम की जा सकें। विद्युत भंडार गृह में उपलब्ध सामग्री की चेकिंग एवं समीक्षा की जाए। उन्होंने संविदा कर्मियों की सूची भुगतान पोर्टल पद्धति पर अद्यतन स्थिति की समीक्षा करने को कहा। निदेशक ने किसी प्रकार के फर्जी भुगतान करने वाले अधिकारी को दंडित करने के निर्देश दिए हैं। समीक्षा बैठक में एसई संदीप कुमार मित्तल, एक्सईएन नगरीय पीपी कठेरिया, एक्सईएन देहात अभिनेन्द्र प्रताप सिंह, एक्सईएन सोपाली सिंह, एसडीओ विजय शंकर, योगेश कुमार, चूड़ामणि, कालीचरन सहित, एटा, मैनपुरी, कासगंज के विद्युत ठेकेदार मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Tough action on fake payer