Tableau-dole became the center of attraction in Maharishi Valmiki procession - महर्षि वाल्मीकि शोभायात्रा में झांकी-डोले बने आकर्षण का केंद्र DA Image
17 नबम्बर, 2019|8:13|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महर्षि वाल्मीकि शोभायात्रा में झांकी-डोले बने आकर्षण का केंद्र

महर्षि वाल्मीकि शोभायात्रा में झांकी-डोले बने आकर्षण का केंद्र

रविवार को शरद पूर्णिमा के शुभ अवसर पर अखिल भारतीय वाल्मीकि सभा के तत्वाधान में रामायण रचनाकार महर्षि वाल्मीकि की शोभायात्रा बड़े से धूमधाम से निकाली गई। शोभायात्रा में एक दर्जन से अधिक झांकी, डोले आकर्षण का केंद्र रहे। शोभायात्रा में वाल्कीकि समाज सहित अन्य समाज के सैकड़ों लोगों ने बढचढ कर प्रतिभाग किया।

महर्षि वाल्मीकि शोभायात्रा के दौरान सैकड़ों लोगों ने बैंड बाजों की थाप पर जमकर नृत्य किया। जगह जगह महर्षि वाल्मीकि की आरती उतार पुष्प वर्षा की गई। शोभायात्रा में एक दर्जन से अधिक भगवान की प्रतिमाओं से सजे डोले एवं झांकिया लोगों के लिए आकर्षण का कन्द्र बने रहे। सामाजिक एवं धार्मिक लोगों ने शोभायात्रा में उपस्थित लोगों को हलवा, पूडी, मिष्ठान आदि का वितरण कर पुण्य कमाने का कार्य किया। शोभायात्रा गांधी मार्केट स्थित मोहल्ला जाटवपुरा से प्रारंभ होकर घंटाघर, मेहता पार्क, नन्नूमल चौराहा, कटरा मोहल्ला, पटियाली गेट, होली मोहल्ला, बली मोहम्मद चौराहा, हाथी गेट, जीटी रोड होते हुए पुन: गांधी मार्केट में समाप्त हुई। शोभायात्रा से पूर्व जाटवपुरा स्थित मंदिर पर धार्मिक कार्यक्रम हवन, यज्ञ का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जुगेन्द्र सिहं यादव, सपा जिलाध्यक्ष अशरफ हुसैन, पूर्व विधायक अलीगंज रामेश्वर यादव ने संयुक्त रुप से किया। इस अवसर संघ संस्थापक गुरुदयाल, विश्वनाथ, राष्ट्रीय अध्यक्ष कुलदीप वाल्मीकि, प्रदीप वाल्मीकि, राजू, कुलदीप, वलवीर प्रसाद, नीतू, आदि लोग मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Tableau-dole became the center of attraction in Maharishi Valmiki procession