Ration sold for seven hundred people by faxing ID in proxy - फर्जी आईडी बनाकर 700 लोगों का राशन बेचा DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फर्जी आईडी बनाकर 700 लोगों का राशन बेचा

जनपद के ब्लॉक क्षेत्र अलीगंज और निधौलीकलां क्षेत्र में दो राशन डीलरों ने प्रॉक्सी में फर्जी तरीके से आईडी डाल ली। इसमें 700 से अधिक लोगों के खाद्यान्न की कालाबाजारी करने का मामला प्रकाश में आया हैं। इसको लेकर डीएम आईपी पांडेय काफी सख्त हो गये हैं। इसीलिए दोनों राशन डीलरों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के निर्देश दिये हैं। डीएम के आदेश पर दोनों के खिलाफ संबंधित थानों में रिपोर्ट दर्ज करा दी गई है।

गरीबों के खाद्यान्न को लेकर शासन काफी गंभीर है। सीएम के विकास के बिन्दु है उनमें गरीबों को उपलब्ध कराये जाने वाले खाद्यान्न को भी रखा गया है। इसीलिए गरीबों को खाद्यान्न समय से मिल सके। इसके लिए कड़े निर्र्देश दिये गये हैं। अलीगंज ब्लॉक के गांव हत्सारी के राशन डीलर की शिकायत गांव के लोगों ने शिकायत की थी कि गांव का राशन डीलर महीने भर में दो दिन दुकान खोलता है। जिसके कारण उन लोगों को समय से राशन नहीं मिल पा रहा है। इसके अलावा यूनिट कम करके लोगों को राशन दिया जा रहा है।

इसके बाद डीएसओ ने जब मामले की जांच कराई तो राशन डीलर ने प्रॉक्सी से भी लोगों को राशन पॉश मशीन पर अंकित करा दिया लेकिन गरीबों को खाद्यान्न नहीं दिया। इसीलिए उसके खिलाफ गरीबों के खाद्यान्न के कालाबाजारी के आरोप में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। इसी तरह निधौलीकलां विकास खंड के गांव हिम्मतपुर नाजिरपुर के राशन डीलर राजकुमार ने प्रॉक्शी के माध्यम से लोगों के कालाबाजारी कर ली गई है।

डीएसओ ने बताया कि पॉश मशीन के माध्यम से जब खाद्यान्न के वितरित नहीं हो पाता है तो महीने के अंत में शासन के द्वारा प्रॉक्सी खोल दी जाती है। जिसमें प्रॉक्सी के सॉफ्वेयर में उपभोक्ता की आईडी के पीछे के चार डिजिट डालने के बाद पूरा रिकार्ड आ जाता है और उपभोक्ता को खाद्यान्न दे जाता है। दोनों राशन डीलरों ने इसी के माध्यम से करीब सात सौ लोगों को खाद्यान्न निकाल लिया और उसको बाजार में बेच दिया। इस मामले की जांच कराई गई तो राशन डीलरों ने उपभोक्ताओं को खाद्यान्न ही नहीं दिया था। इसके बाद डीएम के सामने को मामले को रखा गया तो डीएम ने मामले की रिपोर्ट दर्ज कराने के निर्देश दे दिये। अब खाद्य रसद विभाग ने दोनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी है। डीएसओ ने बताया कि जनपद में राशन डीलरों को सरकारी खाद्यान्न की कालाबाजारी नहीं करने दी जायेगी। इसके लिए अलग से लगातार खाद्यान्न वितरण की जांच कराई जा रही है।

वर्जन---

जनपद में दो राशन डीलरों ने सरकारी खाद्यान्न का दुरुपयोग करने का प्रयास किया है। जिनके खिलाफ जांच कराकर रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। किसी भी राशन डीलर को प्रॉक्सी के माध्यम से सरकारी खाद्यान्न की कालाबाजारी नहीं करने दी जायेगी। उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

----आरके मिश्रा डीएसओ एटा----

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ration sold for seven hundred people by faxing ID in proxy