DA Image
24 सितम्बर, 2020|11:41|IST

अगली स्टोरी

बिना ट्रेनिंग प्राइवेट डॉक्टर नहीं कर सकेंगे कोरोना का इलाज

default image

लॉकडाउन में भी बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम को स्वास्थ्य विभाग पंजीकृत प्राइवेट चिकित्सकों का सहयोग ले रहा है। उससे पूर्व निजी चिकित्सकों को इन्फेंक्शन प्रीवेंशन कंट्रोल प्रोटोकॉल प्रशिक्षण दिलाया जा रहा है। प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद ही निजी चिकित्सक क्लीनिक खोल सकेंगे।

डिप्टी सीएमओ डा. आरएन गुप्ता ने बताया कि जिले में कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम को पंजीकृत प्राइवेट चिकित्सकों का सहयोग लिया जा रहा है। उसके लिए चिन्हित किए गए 12 चिकित्सकों को इन्फेंक्शन प्रीवेंशन कंट्रोल प्रोटोकॉल प्रशिक्षण दिया गया है। प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले चिकित्सक ही लॉकडाउन में क्लीनिक खोल सकेंगे। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण प्राप्त चिकित्सक क्लीनिक में इमरजेंसी और फीवर ओपीडी की संचालित कर सकेंगे। अपंजीकृत बढ़ा रहे है दिक्कतएटा। ग्रामीण क्षेत्र में सक्रिय अपंजीकृत चिकित्सक दिक्कत को बढ़ा रहे है। इनके यहां सोशल डिस्टेसिंग का पालन न कर मनमाने ढंग से मरीज देखे जा रहे है। ऐसा करने से कोरोना वायरस संक्रमण फैलने की आशंका बढ़ती जा रही है। वाहनपुर की कोरोना पॉजिटिव किशोरी का उपचार अपंजीकृत चिकित्सकों के यहां चलने की बात उठ रही है। शिकायत मिलने पर उनके विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Private doctors will not be able to treat corona without training