अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कासगंज में बदमाशों की ग्रामीणों से मुठभेड़, दो बदमाशों ढेर

कासगंज। हिन्दुस्तान टीम

जिले के पटियाली इलाके के गांव चहका में रविवार सुबह ग्रामीण की हत्या को आए बदमाशों की ग्रामीणों से मुठभेड़ हो गई। दोनों ओर से ताबड़तोड़ फायरिंग हुई। गोलियों की तड़तड़ाहट से दहशत फैल गई। ग्रामीणों ने बदमाशों को खदेड़कर दबाव बढ़ाया तो बदमाशों की ओर से फायरिंग बंद हो गई। गांव में पहुंची पुलिस को पशुओं के अहाते में एक बदमाश रक्तरंजित हालत में मरा पड़ा मिला। जबकि दूसरे की उपचार को ले जाते समय रास्ते में मौत हो गई। पुलिस ने एक घायल बदमाश को उपचार के लिए भर्ती कराया है। सूचना पाकर एसपी समेत आला अफसर घटनास्थल पर पहुंचे। तनाव को देखते हुए गांवों में पुलिस तैनात कर दी गई है।

घटना को लेकर दर्ज कराई गई रिपोर्ट के मुताबिक रविवार सुबह दस बजे गांव नौगंवा का रहने वाला बदमाश राजकुमार पुत्र जगदीश अपने साथ संजय मिश्रा पुत्र कृष्णादेव निवासी नानपुरा जनपद बहराइच और बबलू पुत्र कल्लू उर्फ बलबीर निवासी नौगंवा को लेकर गांव चहका में सुनील पुत्र सत्यपाल की हत्या को पहुंचा था। गांव के बाहर ही उसका सामना सुनील से हुआ तो सुनील ने गांव में मदद के लिए पुकार लगा दी और दौड़ कर अपने घर में घुस गया। सुनील और उसके पिता सत्यपाल ने लाइसेंसी बदंकू से मोर्चा संभाला। दोनों ओर से फायरिंग होने लगी। जानकारी होते ही अन्य ग्रामीणों ने हथियारों के साथ मोरचा संभाल लिया। इसके बाद बदमाश राजकुमार, संजय और बबलू खुद को घिरता देख फायरिंग करते वहां से भाग निकले।

सूचना पर पहुंची पुलिस को पशुओं के अहाते में बदमाश राजकुमार की लाश पड़ी मिली। जबकि संजय मिश्रा और बबलू घायल हालत में पड़े मिले, जिन्हें पुलिस उपचार के लिए पटियाली सीएचसी के लिए दौड़ पड़ी। पटियाली से कासगंज जिला अस्पताल ले जाते समय रास्ते में संजय मिश्रा ने दम तोड़ दिया। जबकि बबलू को अलीगढ़ मेडिकल में भर्ती कराया गया।

सबसे पहले मौके पर पहुंची दरियाबगंज चौकी की पुलिस

बदमाशों की ओर से फायरिंग बंद होने के बाद ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दे दी। सबसे पहले दरियाबगंज पुलिस चौकी की पुलिस पहुंची। इसके बाद कोतवाली पटियाली पुलिस ने साढ़े दस बजे जिला पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी। जिस पर पटियाली कोतवाल जयसिंह परिहार गांव में पहुंचे।

कंट्रोल रूम से सूचना मिलते ही मौके पर दौड़े पुलिस अफसर

कंट्रोल रूम से सूचना मिलते ही एसपी पीयूष श्रीवास्तव, एएसपी डा. पवित्रमोहन त्रिपाठी, सीओ बीएस वीर सिंह गांव में पहुंचे और घटनास्थल का जायजा लेकर ग्रामीणों से जानकारी ली। कुछ समय बाद ही एसडीएम समेत अधिकारी पहुंच गये। घटना के संबंध में गांव चहका निवासी सुनील पुत्र सत्यपाल ने मुकदमा दर्ज कराया है। रिपोर्ट में सुनील ने बताया है, कि विगत जून 2017 में बदमाश राजकुमार रामचन्द्र शाक्य से मारपीट करने में लगा था, तब मैने बीच बचाव कराकर रामचन्द्र को बचाया, जिससे राजकुमार खुन्नस मान बैठा और उसी दिन रात को राजकुमार ने घर आकर गाली ग्लोज और फायरिंग कर दहशत फैलाई थी, उसी बात को लेकर आज उसे मारने के इरादे से बदमाशों को लेकर गांव आया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kadganj encounter with villagers , two Dacoit die