DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बावरिया गिरोह ने मां-बेटा की हत्या, लूट-पाट की घटना को दिया था अंजाम

लूटपाट के बाद मां-बेटा की हत्या की घटना को अंजाम बावरिया गिरोह ने दिया था। रविवार रात मुठभेड़ के दौरान पिलुआ, सकीट, स्वाट टीम ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए बावरिया गिरोह के चार बदमाशों को दबोचा है। इनके कब्जे से लाखों के जेवरात, नकदी, बाइक, कार, चोरी की लाइसेंसी बंदूक सहित भारी मात्रा में सामान बरामद हुआ। गैंग का मुख्य सरगना पुलिस पकड़ से दूर है। बावरिया गिरोह ने आसपास के जिलों में डेढ़ सौ से ज्यादा चोरी-डकैती की घटनाओं को अंजाम देना भी स्वीकार किया है।

पुलिस लाइन में एसएसपी अखिलेश कुमार चौरसिया ने बताया कि पकड़े गए बदमाशों के नाम जयप्रकाश उर्फ जेपी उर्फ पिंटू निवासी खोजपुर थाना सहावर कासगंज, कैलाश लोधी निवासी नूरपुर थाना सकीट, गोविंद निवासी कलानी थाना सिढ़पुरा कासगंज, चरन सिंह निवासी जहांगीरपुर थाना सहावर कासगंज बताया। पूछताछ में बदमाशों ने बताया कि गैंग का मुख्य सरगना राकेश बावरिया निवासी निठारी थाना ककोड गौतमबुद्ध नगर है। इसका चालक राजेश कुशवाह निवासी लख्मी थाना सहावर, आविद निवासी जगलिया थाना देहली गेट अलीगढ़, रामौतार, रामवीर, दयाराम बावरिया, लल्ला बावरिया, कालीचरन निवासी उसैत बंदायू के साथ मिलकर गैंग बनकर घटनाओं को अंजाम देते हैं। बावरिया गिरोह घटना को अंजाम देने से पूर्व लोकल गिरोह से संपर्क करता था। जिस घटना को अंजाम देना होता है वहां का लोकल गिरोह से रैकी करता है। डकैती डालने से पहले एकत्रित होते हैं। रात होते ही धावा बोल देते हैं। ऐसे में यदि कोई जाग जाता है तो पीट-पीटकर या गोली मारकर हत्या कर देते हैं। बताया कि गिरोह ने जिले के साथ ही बंदायू, फिरोजाबाद, कासगंज सहित कई जिलों से डेढ़ सौ से अधिक डकैती, चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया।

लूट के सामान को आगरा बेचने जा रहे थे

रविवार को लूटे गए माल को आगरा बेचने जा रहे थे। बताया कि जयप्रकाश, गोविंद पर चार-चार, कैलाश लोधी पर छह मुकदमे दर्ज है। एएसपी संजय कुमार, सीओ सकीट अशोक कुमार यादव, सीओ सदर मौजूद रहे।

लोकल गैंग का लीडर है जेपी

पुलिस ने बताया कि सभी आरोपियों पर कई मामले दर्ज हैं। जिसमें कैलाश हिस्ट्रीशीटर भी है वहीं चरन सिंह एक बेसिक स्कूल में खाना बनाने का काम करता है। जयप्रकाश गैंग का लीडर है। बताया कि कासगंज में उसने कई घटनाओं को अंजाम दिया है।

धोखे में मारी गई लाड़वती

पुलिस ने बताया कि बदमाश घर से चोरी कर रहे थे। इसी दौरान लाड़वती ने करवट ली तो बदमाशों को लगा कि लाड़वती जाग गई है। बदमाशों ने लोहे की रोड मारकर उसकी हत्या कर दी। चीख सुनकर आए बेटे संजीव को गोली मारकर हत्या कर दी।

इन घटनाओं का हुआ खुलासा

थाना सकीट के गांव नगला काजी में लूटपाट के बाद मां-बेटे की हत्या

थाना रिजोर के गांव वृदांवन में लूटपाट के बाद युवक की हत्या

थाना सकीट के गांव नैनपुर में लूट की घटना

थाना जसराना के गांव नगला मदना में लूटपाट के बाद युवक को गोली मारी

कोतवाली देहात के गांव चिलासनी में पिस्टल चोरी की घटना

थाना पिलुआ, इगलास, गंजडुंडवारा में चोरी, लूट की घटना।

यह सामान हुआ बरामद

लाइसेंसी पिस्टल, बंदूक, बंदूक, पन्द्रह कारतूस, तीन तमंचा, 127240 लाख रुपये, बीस लाख के जेवरात, चार मोबाइल, दो बाइक, लूटपाट करने का सामान बरामद हुआ।

75 हजार के इनाम से किया पुरस्कृत

एटा। बड़ी घटनाओं का खुलासा करने वाले थानाध्यक्ष पिलुआ सुधीर कुमार, थानाध्यक्ष सकीट नजमुल साकिब, स्वाट टीम प्रभारी शेर सिंह को इनाम देकर पुरस्कृत किया। आईजी ने 75 हजार, एसएसपी ने 25 हजार रुपये से पुरस्कृत किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Baveryia gang had robbed and murdered mother-son