DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  देवरिया  ›  नदी का बढ़ने लगा जलस्तर, पूरी नहीं हुई परियोजना

देवरियानदी का बढ़ने लगा जलस्तर, पूरी नहीं हुई परियोजना

हिन्दुस्तान टीम,देवरियाPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 04:41 AM
नदी का बढ़ने लगा जलस्तर, पूरी नहीं हुई परियोजना

रुद्रपुर। नन्द किशोर गांधी

भुसऊल गांव के पास भुसऊल-पिड़रा बांध का अस्तित्व महज सेटबैक के सहारे टिका हुआ। यहां नदी खेतों को काटते हुए तटबंध को भी काट चुकी है। जबकि पिड़री गांव के पास नदी की धारा करीब दो सौ मीटर की लम्बाई में लगातार कटान कर रही है। अगर यह बंधा टूटा तो कछार के 64 गांवों पर बाढ़ का खतरा बढ़ जाएगा। जबकि बाढ़ का पानी रुद्रपुर नगर में भी घुस जाएगा और तबाही मचा देगा।

कछार के 64 गांवों के सुरक्षार्थ बाढ़ खण्ड ने गोरखपुर की सरहद से लेकर पिड़रा घाट गांव तक 5.1 किमी लम्बे तटबंध का निर्माण कराया है। जो भुसऊल व पिड़री उर्फ जिगिनिहवां गांव होते हुए पिड़रा बाढ़ चौकी तक है। गोर्रा नदी के पूर्वी छोर पर बने भुसऊल-पिड़रा बांध की हालत जर्जर हो चुकी है। पहले नदी बंधे से काफी दूरी पर प्रवाहित होती थी, लेकिन अब भुसऊल के पास बंधे से सटकर बह रही है। यहां नदी की धारा करीब डेढ़ सौ मीटर की लम्बाई में पिछले कई वर्षों से लगातार कटान कर रही है। आलय है कि यहां बंधे अस्तित्व खत्म हो चुका है। बाढ़ खण्ड ने भुसऊल गांव निवासी विश्वनाथ राजभर व लक्ष्मीना आदि के खेत में सेटबैक खड़ा करके बंधे का अस्तित्व बचाया है। इस बार भी बाढ़ खण्ड ने नई परियोजना शुरू किया है। लेकिन परियोजना पूरा नहीं हो सका है, जबकि नदी का जलस्तर यास तुफान की बारिश के बाद करीब साढ़े चार मीटर बढ़ा चुका है। यही हाल पिड़री गांव के पास भी है, जहां नदी की धारा लगभग दो मीटर में कटान कर रही है। नदी का पानी बढ़ जाने से परियोजना की मिट्टी भी कटकर धारा के साथ बहने लगा है। अगर यहां बंधा टूटा तो पिड़री गांव के साथ ही मांगा कोड़र, मिसिर डाड़ी, जोगिया बुजुर्ग, परसौना, काशीपुर व श्रीनगर कोल्हुआ गांव को सीधे प्रभावित करते हुए बाढ़ का पानी कछार के 64 गांवों में घुस जाएगा। इतना ही नहीं नगर भी बाढ़ से अछूता नहीं रहेगा। गोला वार्ड, चौहट्टा वार्ड, बरई वार्ड व मल्लाह टोली वार्ड को भी बाढ़ का पानी प्रभावित करेगा।

भुसऊल-पिड़रा बांध पर कहीं भी खतरे की कोई बात नहीं है। बंधे को बचाने के लिए 451 लाख की परियोजना चल रही है। जिसे 15 जून तक ठेकेदार को पूरा करने का समय दिया गया है। जिसमें भुसऊल के पास एक अदद स्टड एवं 140 मीटर की लम्बाई में पीचिंग व लाचिंग अपरन का काम चल रहा है। जबकि पिड़री गांव के पास तीन अदद स्टड एवं 210 मीटर में पीचिंग व लाचिंग अपरन का कार्य तेजी से हो रहा है। पानी बढ़ जाने से कुछ दिक्कतें हो रही हैं। लेकिन इसे शीघ्र पूरा कर लिया जाएगा।

ई.सुधीर कुमार, सहायक अभियंता, बाढ़ खण्ड देवरिया

संबंधित खबरें