DA Image
21 जनवरी, 2021|2:39|IST

अगली स्टोरी

समस्याओं को लेकर रोडवेज कर्मचारियों ने दिया धरना

समस्याओं को लेकर रोडवेज कर्मचारियों ने दिया धरना

देवरिया। निज संवाददाता

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम कर्मचारी अधिकारी संघर्ष मोर्चा के सदस्यों ने सोमवार को रोडवेज परिसर में धरना दिया। कर्मचारियों ने शासन द्वारा राष्ट्रीयकृत मार्गो पर निजी वाहन स्वामियों को परमिट देने का विरोध किया। कर्मचारियों ने मांगे नहीं माने जाने पर विह्द आंदोलन की चेतावनी दी। कर्मचारियों ने अपनी सात सूत्रीय मांगों का ज्ञापन अधिकारी को सौंपा।

प्रांतीय नेतृत्व के निर्देश पर उत्तर प्रदेश परिवहन निगम कर्मचारी अधिकारी संघर्ष मोर्चा द्वारा रोडवेज में धरना दिया गया। धरने को सम्बोधित करते हुए एआरएम ओम कुमार मिश्र ने कहा कि सरकार कर्मचारियों और अधिकारियों की समस्याओं पर ध्यान नहीं दे रही है। रोडवेज से प्रतिवर्ष लाखों गरीबो को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाने का कार्य करती है। प्राइवेट बसों को परमिट मिलने से रोडवेज की आय प्रभावित होगी। इसका असर विभाग पर हड़ेगा। संयोजक केसी श्रीवास्तव ने कहा कि प्रदेश सरकार कर्मचारियों के हितों का ध्यान नहीं रख रही है। कर्मचारियों ने कठिन परिश्रम कर विभाग को घाटे से उबारा है। जनता की सेवा के लिए शुरु की गई रोडवेज को घाटा दिखाकर बंद करने की योजना बनाई जा रही है। इसका रोडवेज के कर्मचारी अधिकारी विरोध करते हुए आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। प्रेमनारायण तिवारी ने कहा कि प्रदेश सरकार कर्मचारियों की समस्याओं पर ध्यान नहीं दे रहा है। जिससे कर्मचारियों के बीच असतोष व्याप्त है। कर्मचारियों की समस्याओं का समाधान नहीं होने पर 30 दिसम्बर को गोरखपुर में होने वाली रैली को सफल बनाने के लिए कर्मचारियों के गोरखपुर चलने का आवाहृन किया गया है। कर्मचारियोें ने सात सूत्रीय ज्ञापन अधिकारियों को सौंपा। इस दौरान दुर्गा प्रसाद यादव, जयप्रकाश दूबे, अशोक सिंह, नरुलहसन, ओमप्रकाश, रामललित, अरविन्द कुमार, ओपी मणि, युगुल किशोर गोड़, जेपी नारायण, रामानन्द शर्मा, अरविन्द मिश्रा, सुबाष प्रसाद, मो.जकारिया, पटेल प्रसाद, अरुण कुमार श्रीवास्तव, विरेन्द्र यादव, विश्वनाथ पाण्डेय, विश्वांक द्विवेदी आदि मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Roadways employees sit on problems