DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  देवरिया  ›  रामू द्विवेदी को सुरक्षा कारणों से जिला अस्पताल नहीं किया गया शिफ्ट
देवरिया

रामू द्विवेदी को सुरक्षा कारणों से जिला अस्पताल नहीं किया गया शिफ्ट

हिन्दुस्तान टीम,देवरियाPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 05:30 AM
रामू द्विवेदी को सुरक्षा कारणों से जिला अस्पताल नहीं किया गया शिफ्ट

देवरिया। निज संवाददाता

पूर्व एमएलसी रामू द्विवेदी को सुरक्षा कारणों से दूसरे दिन भी जिला अस्पताल में शिफ्ट नहीं किया जा सका। पूर्व एमएलसी की तबीयत जिला कारागार में पहुंचने के बाद से ही खराब है। मेडिकल टीम की जांच में इसकी पुष्टि हो चुकी है। टीम ने बंदी को जिला अस्पताल में इलाज की संस्तुति की थी।

रामू द्विवेदी को एक पुराने मामले में कोतवाली पुलिस ने 12 जून को लखनऊ से गिरफ्तार किया था। इसके साथ ही रामू के तीन साथियों को भी गिरफ्तार किया था। पुलिस ने रामू समेत उसके साथियों की कोरोना की जांच कराते हुए मेडिकल करा कर न्यायालय में पेश किया। जहां से चारों को एक साथ जेल भेज दिया गया। जेल पहुंचने पर रामू की तबीयत खराब हो गई। जिला कारागार के चिकित्सकों ने बंदी का इलाज शुरु किया। रामू कुछ दिनों पूर्व कोरोना से संक्रमित हुए थे। उनका इलाज दिल्ली के प्राइवेट अस्पताल में चल रहा था। जेल में तबीयत खराब होने पर जिला अस्पताल के फिजिशियन डॉ.एस एस द्विवेदी, सर्जन डॉ.राकेश कुमार, आर्थोपेडिक सर्जंन समेत अन्य चिकित्सकों ने सोमवार जेल में उसके स्वास्थ्य की जांच किया। टीम के सदस्यों ने जिला अस्पताल में भर्ती करने की संस्तुति की है। सीएमओ ने इसकी जानकारी डीएम और जेल अधीक्षक को भेज दी । जेल अधीक्षक ने जिला अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराने की अनुमति आलाधिकारियों से मांगी। न्यायालय और डीएम ने बंदी इलाज कराने का निर्देश दिया। जेल अधीक्षक ने मंगलवार को आरआई को पत्र भेजकर जिला अस्पताल में भर्ती कराने व इलाज के दौरान सुरक्षा बल की मांग की। जेल के अधिकारी मंगलवार की देर शाम तक पुलिस लाइन से संपर्क कर सुरक्षा गार्डों की राह देखते रहे, लेकिन पुलिस जेल नहीं पहुंची। बुधवार को भी जेल के अधिकारियों ने पुलिस लाइन के आरआई से संपर्क किया। शाम तक कोई सुरक्षा मुहैया नहीं कराई गई।

बंदी रामू द्विवेदी की तबीयत खराब चल रही है। जिला अस्पताल के चिकित्सकों की टीम ने भी बंदी रामू द्विवेदी की स्वास्थ्य की जांच किया था। उन्होंने उनको जिला अस्पताल में भर्ती कराने का सुझाव दिया है। इसके लिए पुलिस सुरक्षा व्यवस्था के लिए पत्राचार किया है। पर्याप्त सुरक्षा मिलने पर ही उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा।

केपी त्रिपाठी, जेल अधीक्षक, देवरिया

संबंधित खबरें