DA Image
29 जनवरी, 2020|2:05|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भटनी पहुंचने वाले रास्तों पर तीन अंडरपास बनाएगा रेलवे

भटनी पहुंचने वाले रास्तों पर तीन अंडरपास बनाएगा रेलवे

भटनी पहुंचने वाले मार्गो पर रेलवे तीन अंडरपास बनाएगा। रेल इंजन की दिशा बदलने से मुक्ति दिलाने वाले इस बाईपास रेलमार्ग पर तीनों अण्डर पास बन रहे हैं। ऐसे में लोगों के मन में एक आशंका बनी हुई है कि इसके कारण बड़े वाहनों ट्रक आदि के भटनी पहुंचने में समस्या हो सकती है हलांकि रेलवे के अधिकारियों का कहना है कि अंडर पास बड़े वाहनों के मानक के अनुरूप बनाए जा रहे हैं ऐसें में भविष्य में कोई दिक्कत नहीं होगी।

भटनी जंक्शन से होकर प्रतिदिन भटनी-सीवान और वाराणसी रेल खण्ड पर करीब दौ सौ ट्रेनें गुजरती हैं। इसके कारण लोगों को नगर से बाहर जाने के लिए 115, 16 तथा 17 नम्बर रेलवे फाटक पर घन्टों खड़ा रहना पड़ता है। भटनी जंक्शन पर वाराणसी व सिवान रेल खण्ड के लिए गाड़ियों की दिशा बदलने के लिए इंजन की दिशा बदलनी पड़ती है। जिससे मुक्ति के लिए रेलवे ने पुरानी छोटी लाइन पर पिवकोल तक करीब 11 किलोमीटर रेल बाईपास लाइन पर काम शुरु कर दिया है। भटनी- पिवकोल, भटनी- भरथुआ मार्ग तथा भटनी- खुखुन्दू मार्ग इस बाईपास से जुड़े होने के कारण रेलवे इन स्थानों पर अण्डर पास बना रहा है। अंडर पास से होकर बड़े वाहनों का गुजरना संभव नहीं होगा। ऐसे में इस अण्डर पास के बन जाने के कारण लोगों को आशंका है कि बड़े वाहनों का प्रवेश ही भटनी क्षेत्र के लिए दुर्लभ हो जाएगा। जिससे भटनी क्षेत्र के करीब सौ से अधिक गांव तथा बिहार प्रान्त से सटे बलुआ अफगान, भिंगारी बाजार तथा रामपुर खोरीबारी तक के लोगों को इस समस्या से जुझना पड़ेगा। इसको लेकर देवघाट निवासी तुंगनाथ यादव ने जिलाधिकारी सहित रेल अधिकारियों को पत्र लिखकर समस्या के समाधान की अपील की है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: Railways will build three underpasses on the roads leading to Bhatni