ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश देवरियाविधायक ने की गवाही से मुकरने वाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग

विधायक ने की गवाही से मुकरने वाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग

देवरिया, निज संवाददाता। सदर विधायक डा. शलभ मणि त्रिपाठी ने थाना परिसर में...

विधायक ने की गवाही से मुकरने वाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग
हिन्दुस्तान टीम,देवरियाFri, 08 Dec 2023 07:30 PM
ऐप पर पढ़ें

देवरिया, निज संवाददाता।
सदर विधायक डा. शलभ मणि त्रिपाठी ने थाना परिसर में नाबालिग से छेड़खानी व अश्लीलता के आरोपी थानेदार के बरी होने के मामले में पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा से शिकायत की है। उन्होंने कहा है कि जिन पुलिस कर्मियों की गवाही से पलटने से पुलिस उपनिरीक्षक बरी हो गए उनके खिलाफ जांच कर सख्त कार्यवाही की जाय।

जुलाई-2020 में भटनी थाने में भीष्मपाल सिंह यादव एसओ पद पर तैनात थे। उसी दौरान क्षेत्र के एक गांव की महिला अपनी नाबालिग बेटी को साथ किसी मामले में शिकायत करने थाने पर पहुंची। आरोप था कि तत्कालीन थानाध्यक्ष भीष्मपाल सिंह यादव ने उन्हें अपने कक्ष में दोनों को बुलाया और वह नाबालिग के साथ छेड़खानी के साथ ही अश्लीलत हरकत करने लगे। इसका वीडियो वायरल होने पर एसओ के खिलाफ पाक्सो जैसी गंभीर धारा में केस दर्ज हुआ था। मुकदमें के बाद एसपी ने एसओ को सस्पेंड कर दिया।

इसके बाद भीष्मपाल सिंह फरार हो गये। पुलिस द्वारा फरार पुलिस निरीक्षक पर 25 हजार रूपये का ईनाम रखा गया। बाद में वह पुलिस की गिरफ्त में आने पर जेल गये। इस मामले में चले मुकदमें के दौरान कोर्ट में विवेचनाधिकारी, तत्कालीन क्षेत्राधिकारी पंचम लाल तथा सभी पुलिस कर्मी अपनी गवाही से मुकर गये। इसके चलते भीष्मपाल सिंह कोर्ट से बरी हो गये।

सदर विधायक ने एसपी को लिखे पत्र में कहा है कि यह अत्यंत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि इस बेहत गंभीर प्रकरण में कोर्ट में ट्रायल के दौरान विवेचनाधिकारी, तत्कालीन क्षेत्राधिकारी पंचम लाल तथा सभी पुलिस कर्मी अपनी गवाही से पलट गये। जिसके चलते भीष्मपाल अदालत से बरी हो गये। एक दागी पुलिस कर्मी को बचाने के लिए जिस तरह तत्कालीन क्षेत्राधिकारी समेत तमाम पुलिस कर्मियों ने अपने बयान बदले है, वह आपराधिक मिली भगत की तरफ इशारा करता है।

सदर विधायक ने इस प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए जांच कर गवाही से पटलने वाले पुलिस कर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाही करने की मांग की है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें