ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश देवरियाइमरजेंसी से लेकर वार्ड तक फुल, कुर्सी पर हो रहा इलाज

इमरजेंसी से लेकर वार्ड तक फुल, कुर्सी पर हो रहा इलाज

देवरिया, निज संवाददाता। महर्षि देवरहा बाबा स्वशासी चिकित्सा महाविद्यालय में रोगियों की भीड़ बेतहासा...

इमरजेंसी से लेकर वार्ड तक फुल, कुर्सी पर हो रहा इलाज
हिन्दुस्तान टीम,देवरियाWed, 29 Nov 2023 10:30 AM
ऐप पर पढ़ें

देवरिया, निज संवाददाता। महर्षि देवरहा बाबा स्वशासी चिकित्सा महाविद्यालय में रोगियों की भीड़ बेतहासा बढ़ रही है। इसके चलते मेडिकल कालेज प्रशासन के हाथ पांव फूल जा रहे हैं। मंगलवार को इमरजेंसी से लेकर वार्ड तक रोगियों से भरे पड़े रहे। इसके चलते नए रोगियों को बेड तक नहीं मिला। कुर्सियों व स्ट्रेचर पर ही डॉक्टरों को आकस्मिक चिकित्सा करनी पड़ी।
मेडिकल कालेज में दवा कराना अब आसान नहीं रहा। हर रोज दो से ढ़ाई हजार रोगी अपना पंजीकरण कराते हैं। गर्मियों में यह संख्या कई बार तीन हजार का आंकड़ा पार कर जाती है। मेडिकल कालेज के संसाधन रोगियों की संख्या के आगे हांफते नजर आते हैं। विगत कई दिनों से चली आ रही रोगियों की भीड़ मंगलवार को भी रही। इमरजेंसी के वार्ड में बेड फुल रहे। इसके चलते पांच छ: रोगियों को स्ट्रेचर, कुर्सियों व तीमारदारों के बैठने के स्थान पर इलाज हुआ। यहां रोगी आधे घंटे से दो घंटे तक पड़े रहे। बेड खाली होने के बाद ही उन्हें जगह मिली। भटनी नगर के ओमप्रकाश मद्देशिया (20) बाइक से गिरकर घायल हो गए थे। पिता दिलीप मद्देशिया लेकर इमरजेंसी पहुंचे। दिलीप ने बताया कि दो घंटे से बैठने के स्थान पर ही लिटाकर इलाज किया जा रहा है। मेडिकल स्टॉफ ने बताया है कि बेड अभी खाली नही हैं। कसया के मल्लूडीह के पास अन्ध्या निवासी ओमप्रकाश राजभर (50) और चिंता देवी (48) का एक्सीडेंट देवरिया के कंचनपुर के पास किसी चारपहिया वाहन से हो गया था। इनके सहयोग में पहुंचे सुभासपा नेता गुड्डू राजभर ने बताया कि आधा घंटा से कुर्सियों पर ही इलाज चल रहा है। बेड खाली नहीं है। ठंड में कुर्सियों पर इलाज कराने से ठंड गल सकती है। धनौती रजडीहा निवासी कलावती देवी (68) को परिजन इमरजेंसी लेकर आए थे। इनका शुगर अचानक से कम हो गया था। माइनर ओटी के बगल में बैठने के लिए बने स्थान पर कलावती को लिटाकर लिक्विड दवा दी जा रही थी। साथ आए परिजनों ने बताया कि आधा घंटा से यहीं इलाज चल रहा है। इमरजेंसी के अंदर गैलरी में स्ट्रेचर पर बरडीहा परशुराम निवासी ओमनारायण का इलाज चल रहा था। परिजनों ने बताया कि आधा घंटा से यहीं रखा गया है। अंदर बेड खाली नहीं है। जाने कब बेड मिलेगा।

मेडिसिन व सर्जिकल वार्ड फुल

बदलते मौसम में रोगियों की भीड़ से मेडिसीन व सर्जिकल वार्ड भी बेड की तंगी से जूझ रहे हैं। मंगलवार की सुबह मेडिसीन वार्ड फुल रहा। इमरजेंसी में भर्ती रोगी को वार्ड में जगह की कमी के चलते शिफ्ट नहीं किया जा सका। 10 बजे बेड खाली होने के बाद ही रोगी को मेडिसीन वार्ड में जगह मिली। सांस, झटका, बुखार, उल्टी व दस्त के करीब 29 बच्चे पीआईसीयू से लेकर वार्ड तक भर्ती थे। छ: बेड खाली थे।

ओपीडी में लगी रही लंबी लाइन

मेडिकल कालेज की ओपीडी में रोगियों की लंबी कतार लगी रही। न्यू ओपीडी बिल्डिंग में 1565 रोगियों ने पंजीकरण कराया। वहीं एमसीएच विंग में 503 रोगियों ने पंजीकरण कराया। इसके अलावा 522 पुराने रोगी भी दवा कराने मेडिकल कालेज पहुंचे। कुल मिलाकर 2,590 रोगियों ने चिकित्सा कराई।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें