DA Image
28 नवंबर, 2020|10:41|IST

अगली स्टोरी

चुनाव प्रचार का शोर थमा, जल-थल व नभ से होगी मतदान की निगरानी

चुनाव प्रचार का शोर थमा, जल-थल व नभ से होगी मतदान की निगरानी

सदर विधानसभा उपचुनाव के प्रचार का शोर रविवार की शाम पांच बजे थम गया। पुलिस और प्रशासन ने शांतिपूर्वक मतदान के लिए तैयारी पूरी कर ली है। पहली बार जिले में मतदान की निगरानी जल-थल और नभ से एक साथ होगी। इसके लिए पुलिस, अर्धसैनिक बल, पीएसी और एनडीआरएफ को लगाया गया है।

देवरिया सदर विधानसभा के उपचुनाव के लिए 3 नवम्बर को मतदान होगा। सभी प्रमुख राजनीतिक दलों ने चुनाव प्रचार के आखिरी दिन रविवार को अपना पूरा दम चुनाव प्रचार में झोंक दिया। शाम पांच बजे चुनाव प्रचार का शोर थम गया। वहीं जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन ने शांतिपूर्वक मतदान के लिए सभी तैयारी पूरी कर ली है। इसके लिए पर्याप्त मात्रा में सुरक्षा बलों को लगाया गया है। मतदान के लिए नौ जिलों से पुलिसकर्मियों को बुलाया गया है। साथ ही छह कंपनी अर्द्धसैनिक बलों को भी लगाया गया है। दो से अधिक बूथ वाले मतदान केन्द्रों पर अर्द्धसैनिक बल और पीएसी को तैनात किया गया है। शहर के प्रमुख चौराहों पर पुलिस पिकेट रहेगा। नगर में शांति पूर्वक मतदान के लिए कोतवाली पुलिस ड्रोन से निगरानी करेगी। सोमवार को पोलिंग पार्टियों के साथ पुलिस टीमें बूथों के लिए रवाना होंगी।

24 घंटे पहले सील हो जाएगा बॉर्डर

3 नवम्बर को ही बिहार में दूसरे चरण का मतदान होगा। वहां दूसरे चरण में देवरिया से सटे सीवान और गोपालगंज जिले की विधानसभा क्षेत्रों में वोट पड़ेंगे। इसे देखते हुए यूपी-बिहार बॉर्डर पर पूरी चौकसी बरती जा रही है। बॉर्डर पर आवागमन को 24 घंटे पहले सील कर दिया जाएगा। यूपी-बिहार बार्डर पर 26 चेकपोस्ट बनाए गए हैं। सभी एक दरोगा, चार पुरुष सिपाही और दो महिला कांस्टेबल लगाई गई हैं। बार्डर सील होने पर वाहनों के साथ ही लोगों के आने-जाने पर भी रोक रहेगी।

छोटी गण्डक व सरयू में होगी नाव से निगरानी

बिहार की कुछ सीमा नदियों से सटी हुई है। इसे देखते हुए इस बार नदियों में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। छोटी गंडक में हेतिमपुर से चुड़िया नदौली गांव तक की 105 किमी की सुरक्षा एनडीआरएफ के जिम्मे है। वहीं बघौचघाट के पकंहा में बहने वाली कुसावती नदी कुशीनगर से देवरिया होते हुए बिहार जाने वाली नदी में भी एनडीआरएफ मुस्तैद रहेगी। मेहरौना के पास सरयू नदी की भी निगरानी के लिए टीमें लगाई गई हैं। ये टीमें नदियों में नाव से गश्त करेंगी। बघौचघाट, भटनी, लार व रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र में नदियों के 10 घाटों पर एनडीआरएफ के साथी पीएसी भी रहेगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Election campaign ceases voting will be monitored through water and water