DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  देवरिया  ›  दो दिनों की बारिश से दो दर्जन से अधिक मोहल्लों में जलजमाव से सांसत
देवरिया

दो दिनों की बारिश से दो दर्जन से अधिक मोहल्लों में जलजमाव से सांसत

हिन्दुस्तान टीम,देवरियाPublished By: Newswrap
Wed, 16 Jun 2021 04:50 AM
दो दिनों की बारिश से दो दर्जन से अधिक मोहल्लों में जलजमाव से सांसत

देवरिया। निज संवाददाता

दो दिन से लगातार हो रही मूसलाधार बारिश के चलते शहर के करीब दो दर्जन मोहल्ले जलजमाव की चपेट में आ गए हैं। वहीं नगर के सीमाई इलाकों में भी घरों के आगे गेट तक पानी भर गया है। अभी मानसून के शुरूआती दौर में ही ऐसे हालात होने पर नगरपालिका विभाग के पसीने छूटने लगे हैं। सड़कों पर हुए जलभराव के बाद लोग इसी रास्ते आने-जाने को मजबूर हैं।

शहर में सोमवार की सुबह से ही लगातार बारिश की स्थिति बनी हुई है। इस दिन करीब पांच से छह घंटे तक बारिश होती रही। रात में भी यही हालात बने हुए थे। मंगलवार की सुबह से दोपहर तक मौसम शांत रहा लेकिन करीब साढे़ 12 बजे के बाद एक बार फिर से बारिश शुरू हो गई। इसके बाद शहर में शाम तक जमकर पानी गिरता रहा। लगातार बारिश होने से नगर इलाके के राघव नगर, देवरिया खास, उमानगर, रामनाथ देवरिया, नाथनगर, भटवलिया, साकेत नगर, न्यू कॉलोनी, अंबेडकर नगर, नई बाजार, भुजौली कॉलोनी, ट्यूबवेल कॉलोनी व अन्य मोहल्ले की सड़कें घुटनेभर पानी में डूब गईं। कई जगहों पर लोग चप्पल हाथ में लेकर, साइकिल उठाकर, दोपहिया वाहनों को धक्का देकर जलभराव के रास्ते से निकलते हुए देखे गये। कई जगहों पर तो पानी में गिरते-संभलते बाहर निकले। हालांकि बीच-बीच में बारिश थमा तो मोहल्ले में कुछ जगहों से जल निकासी भी हो गई। लेकिन अधिकतर मोहल्लों में यह बारिश लोगों के लिये आफत बन गई है। में नगर क्षेत्र के साथ-साथ अगल-बगल के सीमाई इलाके भी जलभराव की चपेट में आ गये हैं। उमानगर व रजला क्षेत्र, देवरिया खास बाहरी, मेहड़ा पुरवां, औद्योगिक क्षेत्र पुरवां, दानोपुर, इजरही व अन्य गांवों में बारिश के बाद खेत और सड़कें डूब गईं।

बारिश के बाद सरकारी द़फ्तर भी जलभराव की चपेट में

दो दिन से जिले में लगातार हो रही बारिश के चलते पुलिस लाइन, कलक्ट्रेट परिसर, जिला अस्पताल, विकास भवन, वन विभाग, बेसिक शिक्षा कार्यालय, पोस्ट आफिस, बिजली विभाग और अन्य कार्यालयों में पानी जमा हो गया। मोहल्लों में लोगों ने घुटनेभर पानी के रास्ते आवागमन करते हुए अपने जरूरी काम को निपटाया। सरकारी विभागों में पानी जमा होने से कर्मचारियों के अलावा यहां काम से आने वाले जरूरमंद भी परेशान रहे।

जिला अस्पताल में पानी जमा होने से जरूरतमंद परेशान

दो दिन से हो रही बारिश के बाद जिला अस्पताल में भी पानी भर गया। इमरजेंसी, एमचसीएच विंग, महिला अस्पताल में इजाल कराने आये मरीज और तीमारदार परेशान हो गये। मरीज, तीमारदार समेत कोरोना का टीका लगवाने आये लोग जिला अस्पताल के गेट पर लगे घुटनेभर पानी के बीच ही आने-जाने के लिए मजबूर रहे। मरीजों को उनके परिजनों ने गोद में उठाकर पानी से बाहर किया। इससे इलाज आदि में कठिनाई का सामना करना पड़ा।

सड़क-नाली नहीं बनने से मोहल्ले में हालात बिगड़े

मोहल्लों में जलभराव होने से स्थानीय लोग जिम्मेदारों को कोस रहे हैं। उनका कहना है कि अगर समय रहते ही सड़क व नाली बना दिया गया होता तो इतनी दुश्वारी का सामना नहीं करना पड़ता। मोहल्ले नालियां ध्वस्त होने से बारिश का पानी एक जगह जमा रहता है। घरों का पानी खाली जमीनों पर जमा हो रहा है। समय रहते सभासदों से सुधि नहीं ली।

संबंधित खबरें