DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  देवरिया  ›  प्रोटोकाल तोड़ पीएचसी मझगावां पहुंचे सीएम ने सभी को हैरत में डाला
देवरिया

प्रोटोकाल तोड़ पीएचसी मझगावां पहुंचे सीएम ने सभी को हैरत में डाला

हिन्दुस्तान टीम,देवरियाPublished By: Newswrap
Thu, 27 May 2021 04:10 AM
प्रोटोकाल तोड़ पीएचसी मझगावां पहुंचे सीएम ने सभी को हैरत में डाला

पैकौली। हिन्दुस्तान टीम

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मझगांवा का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान स्वास्थ्यकर्मियों से वैक्सीनेशन का हाल पूछा और आसपास के गांवों के लोगों को जागरूक करने के लिए भी कहा। मुख्यमंत्री कार्यालय से आए प्रोटोकाल में पीएचसी के निरीक्षण का जिक्र नहीं था। प्रोटोकाल तोड़ मुख्यमंत्री इस अस्पताल पर पहुंचे और सभी को हैरत में डाल दिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का जनपद दौरा पहले से तय था। कतरारी व मुकुन्दपुर गांव का दौरा मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में शामिल था। लेकिन प्रसाशनिक अमला ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के दौरा के आशंका को देखते हुए सुबह से प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मझगावां को तैयार कर रखा था। करीब पौने बारह बजे मुख्यमंत्री का काफिला अचानक मझगावां पंहुच गया। गेट से घुसते ही बाईं तरफ कोरोना जांच हो रहा था तो दाईं तरफ टेंट लगाया गया था। सबसे पहले मुख्यमंत्री की नजर बाएं हो रहे कोरोना टेस्टिंग पर पड़ी। थोड़ी देर के लिए ठहरे और कोरोना जांच कर रहे एलटी विश्वभान सिंह ने प्रणाम किया तो मुख्यमंत्री हाथ हिला कर स्वास्थ्य केन्द्र के बिल्डिंग में प्रवेश किए। प्रवेश करते ही दांए की तरफ वैक्सीनेशन कक्ष में पंहुचे। वहां ड्यूटी पर तैनात बीएसडब्डू धीरज कुमार, एएनएमप्रियंका तिवारी, व सीएचओ निरूपा भाष्कर मौजूद थे। उन्होंने उनसे भी प्रश्न किया। पूछा कि सुबह से कितने लोगों को टीका लगा तो स्वास्थकर्मियों ने बताया की तीन, फिर पूछा कि पहला या दूसरा तो वे बताए पहला डोज लगा है। फिर मुख्यमंत्री ने स्वस्थकर्मियों से कहा की आप लोग आसपास गांवों में जाकर लोगों को टीका लगवाने के लिए जागरूक करें। फिर मुख्यमंत्री आब्जर्वेशन रूम की तरफ बढ़े। वहां पर टीका लगवा कर बैठे यशोदा देवी, बिन्दी देवी, अमरनाथ बैठे थे । मुख्यमंत्री उन लोगों से पूछे कि पहला टीका लगा है या दूसरा तो लोगों ने बताया पहला। फिर पूछे कि वैक्शीन कहां रखा है तो स्वास्थ्यकर्मियों ने बताय कि कोल्ड चेन कक्ष में। फिर वह कोल्ड चेन कक्ष में पहुंचे और चारों तरफ निहागें दौड़ाए और वापस गेट की तरफ बढ़ गए और आगे के कार्यक्रम के लिए निकल गए। तब जाकर स्वास्थ्यकर्मियों ने राहत की सांस लिए।

संबंधित खबरें