ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश देवरियाबोर्ड परीक्षा : परीक्षा केंद्रों को लेकर आपत्तियों की भरमार

बोर्ड परीक्षा : परीक्षा केंद्रों को लेकर आपत्तियों की भरमार

देवरिया, निज संवाददाता। बोर्ड परीक्षा के केन्द्रों की सूची जारी होने के बाद बड़ी...

बोर्ड परीक्षा : परीक्षा केंद्रों को लेकर आपत्तियों की भरमार
हिन्दुस्तान टीम,देवरियाWed, 29 Nov 2023 10:15 AM
ऐप पर पढ़ें

देवरिया, निज संवाददाता। बोर्ड परीक्षा के केन्द्रों की सूची जारी होने के बाद बड़ी संख्या में स्कूल के प्रबंधक और प्रधानाचार्य आपत्ति कार्यालय को भेज रहे हैं। डीईओएस कार्यालय को ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों माध्यमों से शिकायतें प्राप्त हो रही हैं। सबसे अधिक दूर परीक्षा केन्द्र बनाने की शिकायत अब तक मिली है।
जिले में राजकीय, वित्त पोषित और वित्त विहीन के कुल 553 विद्यालय है। जिसमें 22 राजकीय हाई स्कूल, इंटर कालेज, 122 अशासकीय सहायता प्राप्त हाई स्कूल और इंटर कालेज और 409 वित्त विहिन मान्यता प्राप्त हाई स्कूल और इंटर कालेज है। जिसमें से बोर्ड ने देवरिया जिले में वर्ष 2024 के लिए बोर्ड परीक्षा के लिए कुल 177 केन्द्र बनाने का निर्णय लिया है। इसकी सूची पिछले दिनों डीआईओएस कार्यालय ने जारी किया है। इसमें सैकड़ो की संख्या में स्कूलों का केन्द्र दस किलो मीटर से लेकर 20 किलोमीटर दूर तक गया है। वहीं कुछ विद्यालय मानक पूरा करने के बाद भी केन्द्र नहीं बन पाए है। सूची प्रकाशित होने के साथ ही 30 नवम्बर तक आपत्ति देना है। स्कूल केन्द्र नहीं बनने वाले स्कूल मेल पर और कार्यालय में आपत्ति रिसिव करा सकते है। दो दर्जन से अधिक स्कूल ने मेल पर अपनी आपत्ति भेज दिया था। सूची जारी होने के बाद मंगलवार को डीआईओएस कार्यालय खुला तो सुबह से स्कूल के कर्मचारी अपत्ति का पत्र लेकर कार्यालय पहुंचने लगे। वह परीक्षा लिपिक को आपत्ति दे रहे थे तो उन्होंने इसे डिस्पैच कर जमा करने की बात कहीं। इसके बाद 21 लोगों ने डीआईओएस कार्यालय में आपत्ति को जमा किया। जिसमें घाटी, देवरिया शहर, सलेमपुर, भाटपाररानी, रामपुर कारखाना क्षेत्र के स्कूल हैं। सबसे अधिक केन्द्र दूर बनाने की शिकायत है। कुछ ने बनाए गए परीक्षा केंद्रों पर संसाधन नहीं होने की बात कही है। कुछ विद्यालयों ने छात्राओं का सेंटर दूर भेजने पर परेशानी की बात कहते हुए अपनी आपत्ति दिया है। इस लिए उन्होंने अपना केन्द्र बदलने की मांग किया है। इसके साथ ही कुछ विद्यालयों ने अपने विद्यालयों को केन्द्र बनाने के लिए आपत्ति दिया है।

-------------

अधिकारियों से अपनी पीड़ा बयां कर रहे प्रबंधक :

केन्द्र बनने से चूक गए कुछ स्कूलों के प्रबंधक डीआईओएस के साथ ही जिले के अधिकारियों से सम्पर्क कर अपनी पीड़ा बयां कर रहे है। मंगलवार को कुछ वित्त विहीन विद्यालय तो लगातार केन्द्र नहीं बनने से छात्रों की संख्या कम होने की बात कह रहे थे। वहीं कुछ प्रबंधक केन्द्र नहीं बनने और दूर सेंटर बनाने से छात्राओं को होने वाली परेशानी की बात कह रहे थे। वहीं कुछ केन्द्र बनाने के लिए अधिकारी और कर्मचारी का गुहार लगा रहे थे। अधिकारी उन्हें आश्वासन या किसी को आनलाइन केन्द्र बनाने की बात कहकर चलता कर दे रहे थे।

-------

डीआईओएस वीरेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि बोर्ड ने पिछले दिनों जिले में परीक्षा कराने के लिए केन्द्रों की सूची जारी किया है। परीक्षा केन्द्र बनने से परेशानी होने पर प्रधानाचार्य कार्यालय में ऑन लाइन या ऑफलाइन आपत्ति 30 नवम्बर तक दाखिल कर सकते हैं। आपत्ति का निस्तारण जांच कर किया जाएगा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें