DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  देवरिया  ›  तीन दिनों से अपने अनाज की बोरियों के साथ गोदाम पर सो रहे अन्नदाता
देवरिया

तीन दिनों से अपने अनाज की बोरियों के साथ गोदाम पर सो रहे अन्नदाता

हिन्दुस्तान टीम,देवरियाPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 05:30 AM
तीन दिनों से अपने अनाज की बोरियों के साथ गोदाम पर सो रहे अन्नदाता

भटनी। हिन्दुस्तान संवाद

गेहूं बेचने को लेकर भटनी क्षेत्र के किसान पिछले एक पखवारे से परेशान हैं। अभी तक इस केंद्र से जुड़े दर्जनों किसानों का गेहूं नहीं खरीदा जा सका है। हालात यह है कि क्षेत्र के खोरीबार में बने गेहूं क्रय केंद्र के गोदाम पर पिछले तीन दिनों से हो रही बरसात के बीच किसान अपनी उपज ट्राली पर लाद क्रय होने का इंतजार कर रहे हैं।

आनलाइन पंजीकरण कराने के बाद खोरीबारी निवासी विन्ध्यवासिनी राय तथा नरेन्द्र राय गोदाम प्रभारी मुकेश कुमार से सम्पर्क किया। 12 जून को अनाज लेने का वादा कर प्रभारी मौके से नदारद हो गए। किसानों की माने तो दुबारा सम्पर्क करने पर 15 जून को तौल कराने आश्वासन देकर प्रभारी गायब हो गए। क्षेत्र में हो रही लगातार बारिश के कारण किसान अपने अनाज लदे ट्राली के नीचे गोदाम पर ही चारपाई लगाकर सोने को मजबूर हैं। कर्ज लेकर गेहूं की बुआई करने वाले किसानों के साथ हो रहे सौतेले व्यवहार से उनकी धान की फसल भी प्रभावित हो रही है। चार दिन बाद भी बारिश में गोदाम के बाहर भीग रहे अनाज के बोरे को पूरे दिन किसान प्लास्टिक आदि से ढकने की जुगत में दिन काट रहे हैं। ऐसे में ऐसी बदहाली को लेकर किसानों में आक्रोश व्याप्त है।

बिचौलियों हो रहे मालामाल

सरकारी गोदाम गेहूं की तौल की व्यवस्था से परेशान किसान अपने अनाज 1600 रुपए की दर से बिचौलियों को बेच रहे हैं। बिचौलिए भी उन्हीं किसानों के पंजीकरण , आधार कार्ड तथा बैंक डिटेल के आधार पर सरकारी तय दर का लाभ ले रहे हैं। बिचौलियों के साथ विभागीय अधिकारियों से कमीशन के खेल में अन्नदाता दर दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं।

क्यों नहीं हुई कार्रवाई

कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने समीक्षा बैठक में विभागीय अधिकारियों को भटनी के प्रभारी को निलंबित करने का आदेश दिया था। कृषि मंत्री के निर्देश के बाद भी गोदाम प्रभारी पर कार्रवाई न होने के कारण प्रभारी की मनमानियां पहले से ज्यादा ही बढ़ गयीं। क्षेत्र गोदाम प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई न होने पर चर्चा भी जोरों पर है।

क्रय केंद्र प्रभारी के खिलाफ लगातार शिकायतें मिल रही हैं। विभागीय अधिकारियों तथा शासन को प्रभारी के खिलाफ रिपोर्ट भेजी गयी थी। उसके बाद भी कार्यशैली में कोई बदलाव नहीं हो रहा है। जिलाप्रशासन तथा विपणन विभाग को दुबारा सूचित किया जाएगा। किसानों की शिकायतों की जांच में पुष्टि भी हो चुकी है।

ओम प्रकाश बर्नवाल, एसडीएम, सलेमपुर

संबंधित खबरें