DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यमुना का तेजी से बढ़ा जलस्तर, प्रशासन सतर्क

यमुना का तेजी से बढ़ा जलस्तर, प्रशासन सतर्क

ललितपुर के बांधों से पानी छोड़ने के साथ ही केन में आई बाढ़ के कारण यमुना का जलस्तर अब तेजी से बढ़ा है। सोमवार की सुबह 10 बजे यमुना का जलस्तर राजापुर में 87.33 मीटर पर पहुंच गया। नदी किनारे बसे कई गांवों के नजदीक पानी पहुंच चुका है। बाढ़ की संभावना को देखते हुए जिला प्रशासन सतर्क हो गया है। बाढ़ चौकियों में तैनात कर्मचारियों को मौके पर मौजूद रहने के निर्देश दिए गए है। अधिकारी तटवर्ती इलाके में पहुंच गए है। इधर सिंचाई विभाग के अधिशाषी अभियंता का कहना है कि केन का जलस्तर कम होने लगा है। यमुना के 88 मीटर तक पहुंचने की उम्मीद है। शाम तक जलस्तर के घटने की संभावना है।

यमुना नदी में तेजी से आई बाढ़ का पानी नदी तट पर बसे गांवों के पास हिलोरे मार रहा है। ऐसे में अब ग्रामीणों की चिंता बढ़ गई है। लगातार बांधों का पानी नदियों में छोंड़े जाने से यमुना नदी उफान पर हैं। बीती रात यमुना नदी में चार से पांच मीटर बाढ़ का पानी बढ़ गया। कस्बे के सीधाघाट, श्मशान घाट व रास्ता पूरी तरह से पानी में डूब गया है। केवटरहा, बाबाघाट, भभेंट, रगौली, कनकोटा, चिल्ली राकस, नैनी, धौरहरा, देवारी, खोंपा, हस्ता आदि यमुना की तलहटी पर बसे दर्जनों गांवों के लोगों की बाढ़ के पानी ने रातों की नींद हराम करके रख दी है। ग्रामीणों में इस बात को लेकर दहशत है कि बांधों का पानी लगातार छोड़ा जा रहा है। बाढ़ का पानी कभी भी गांवों तक पहुंच सकता है। एसडीएम राजापुर सुभाष चन्द्र यादव का कहना है कि यमुना नदी के बाढ़ का पानी अभी गांवों से काफी दूर है। किसी गांव को बाढ़ के पानी से कोई खतरा नहीं है। फिर भी क्षेत्रीय लेखपालों को सतर्क किया गया है। बाढ़ के पानी पर प्रशासन की पैनी नजर है। बाढ़ से निपटने के पूरे इंतजाम भी कर लिए गए हैं। ग्रामीणों को भी जागरूक किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Yamuna s fast-poured water level administration alert