DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  चित्रकूट  ›  रोजगार ठप होने से उज्जवला के सिलेंडर बने शोपीस
चित्रकूट

रोजगार ठप होने से उज्जवला के सिलेंडर बने शोपीस

हिन्दुस्तान टीम,चित्रकूटPublished By: Newswrap
Mon, 14 Jun 2021 04:20 AM
चित्रकूट। संवाददाता
 केन्द्र सरकार गरीबों के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं चला रही है। लेकिन...
1 / 2चित्रकूट। संवाददाता केन्द्र सरकार गरीबों के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं चला रही है। लेकिन...
चित्रकूट। संवाददाता
 केन्द्र सरकार गरीबों के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं चला रही है। लेकिन...
2 / 2चित्रकूट। संवाददाता केन्द्र सरकार गरीबों के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं चला रही है। लेकिन...

चित्रकूट। संवाददाता

केन्द्र सरकार गरीबों के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं चला रही है। लेकिन महंगाई की मार से प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के सिलेंडर गरीबों के घरों में शोपीस बनकर रह गए हैं। योजना से गरीब परिवार एक बार सिलेंडर भरा पा गया है। लेकिन 880 रुपए गैस सिलेंडर की कीमत होने से महिलाएं गैस का प्रयोग नहीं कर पा रही हैं और मजबूर होकर धुएं वाले चूल्हे में खाना बना रही हैं। केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्रालय ने गरीब गृहणियों को नि:शुल्क प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से सिलेंडर व चूल्हे दिए गए हैं। लेकिन महंगाई की मार से गरीब गैस का प्रयोग नहीं कर पा रहे हैं। जिससे योजना का मूल उद्देश्य पूरा नहीं हो पा रहा है। गैस सिलेंडरों के दाम बढ़ने से दोबारा गैस भराने को गरीब आदमी सोच नहीं रहा है। ऐसे में आर्थिक स्थिति कमजोर होने से गैस सिलेंडर घरों में रखे हुए हैं। जिस पर महिलाएं अभी भी लकड़ी जलाकर धुएं के बीच चूल्हे में खाना बनाने को मजबूर हैं। इसके कोरोना काल में रोजगार ठप होने से गरीब दो वक्त की रोटी की जुगाड़ में परेशान है। ऐसे में उनके गैस सिलेंडर की रिफिलिंग नहीं हो पा रही है।

ममता देवी का कहना है कि कोरोना महामारी के चलते रोजगार पूरी ठप है। किसी तरह से पेट भरने की जुगत लगानी पड़ रही है। ऐसे में बढे़ दामों के गैस सिलेंडर भरवाने की नौबत नहीं आ रही है। ऐसे में मजबूरी में चूल्हा फूंकने को मजबूर हैं।

परवीन का गरीबों को नि:शुल्क गैस सिलेंडर व चूल्हा तो सरकार ने दिया है। लेकिन गरीबों के लिए गैस सिलेंडर भराने के लिए दी जाने वाल सब्सिडी को भी सरकार ने बंद कर दिया है। आर्थिक स्थिति सही न होने पर मजबूरी में गैस नहीं भरा पा रहे हैं।

संबंधित खबरें