DA Image
Saturday, December 4, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश चित्रकूटकोर्ट के जरिए दर्ज मुकदमा ही झूठा निकला, मुद्दई तलब

कोर्ट के जरिए दर्ज मुकदमा ही झूठा निकला, मुद्दई तलब

हिन्दुस्तान टीम,चित्रकूटNewswrap
Wed, 27 Oct 2021 06:45 PM
कोर्ट के जरिए दर्ज मुकदमा ही झूठा निकला, मुद्दई तलब

चित्रकूट। संवाददाता

कोर्ट के जरिए दर्ज कराया गया एक मुकदमा विवेचना दौरान झूठा पाया गया है। विशेष न्यायाधीश दस्यु प्रभावित क्षेत्र की अदालत ने मंगलवार को मुकदमा दर्ज कराने वाली महिला के खिलाफ परिवाद दर्ज कर सम्मन जारी करने के आदेश दिए हैं। महिला को 22 नवंबर को कोर्ट में उपस्थित होने का भी आदेश दिया है।

सहायक शासकीय अधिवक्ता सुशील सिंह ने बताया कि मुख्यालय के जगदीशगंज में बीती आठ फरवरी 2020 को विपिन धतुरहा समेत नौ लोगों व अनिल शुक्ला आदि के बीच विवाद हुआ था। असरोप था कि पहले पक्ष के एक रिश्तेदार ने अनिल शुक्ला पक्ष पर फायर किए थे। पुलिस ने विपिन धतुरहा आदि पर मारपीट कर घर पर चढा़ई करने की रिपोर्ट कोतवाली में दर्ज की थी। जबकि विपिन पक्ष से सुशीला देवी पत्नी स्व. ओमप्रकाश ने धारा 156 (3) के तहत कोर्ट के आदेश पर अनिल शुक्ला आदि के खिलाफ मारपीट की रिपोर्ट 4 जून 2020 को कोतवाली में दर्ज कराई थी।

इस मामले की विवेचना अपराध निरीक्षक रहे महावीर त्रिपाठी ने की। विवेचक ने कोर्ट में पेश की गई रिपोर्ट में बताया कि सुशीला देवी ने जरिए कोर्ट झूठी रिपोर्ट दर्ज कराई है। विवेचना के दौरान दर्ज कराए गए मुकदमे में लगे आरोप से संबंधित कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं। जिस पर विशेष न्यायाधीश दस्यु प्रभावित क्षेत्र दीप नारायण तिवारी ने मामले की सुनवाई की। कोर्ट ने मुकदमा दर्ज कराने वाली सुशीला देवी के खिलाफ कोर्ट में परिवाद दर्ज कराकर उन्हें सम्मन जारी करने के आदेश भी दिए हैं। इसके साथ ही 22 नवंबर को कोर्ट में उपस्थित होने के लिए भी आदेशित किया है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें