DA Image
30 नवंबर, 2020|11:29|IST

अगली स्टोरी

दूध न देने पर गाय न छोड़ने का लें संकल्प

दूध न देने पर गाय न छोड़ने का लें संकल्प

डीएम शेषमणि पांडेय व सीडीओ अमित आसेरी की अगुवाई में खरौध गांव के पूर्व माध्यमिक विद्यालय भगत सिंह के पुरवा परिसर में कुपोषित बच्चों के परिवारों को गौशाला से गाय दी गई। इस दौरान डीएम ने कहा कि गांव में जो बच्चे कुपोषण के शिकार हैं उनके लिए योजनाएं दी जा रही हैं। दूध के लिए गौशाला से दुधारू गोवंश दिया जा रहा है। जिससे गाय के दूध से बच्चे का कुपोषण दूर होगा।

डीएम ने कहा कि अन्ना प्रथा को सबको मिलकर खत्म कराना है। जिसके लिए कुपोषित बच्चों के परिवार व अन्य लोगों को नि:शुल्क दुधारू गाय देंगे। प्रतिमाह गोवंश के भरण-पोषण के लिए नौ सौ रुपए भी दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इन गायों को दूध न देने के बाद न छोड़ने का भी संकल्प लें। उन्होंने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा केपी यादव को निर्देश दिए कि कुपोषित बच्चों के परिवारों को गोवंश उपलब्ध कराए जा रहे हैं ,उनके गायों के लिए अगली व्यवस्था यह सुनिश्चित कर लें कि वह जब अगली बार बच्चा दें तो अच्छी नस्ल की बछिया हो। जिससे आगे चलकर उनके परिवारों को लाभ मिल सके।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Resolve not to leave cow for not giving milk