DA Image
Friday, December 3, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश चित्रकूटप्रवासियों पर ध्यान नहीं, अस्पतालों में जांच कर पूरा करते कोरम

प्रवासियों पर ध्यान नहीं, अस्पतालों में जांच कर पूरा करते कोरम

हिन्दुस्तान टीम,चित्रकूटNewswrap
Wed, 27 Oct 2021 03:16 AM
प्रवासियों पर ध्यान नहीं, अस्पतालों में जांच कर पूरा करते कोरम

चित्रकूट। संवाददाता

स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की लापरवाही से खतरा लगातार बढ़ रहा है। त्योहारों के दौरान बाहर से प्रवासी रोजाना वापस घर लौट रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से रेलवे स्टेशन और बस अड्डों में लगाई गई टीमें कहीं नजर नहीं आ रही हैं। फलस्वरूप प्रवासी बिना किसी जांच के गांवों में पहुंच रहे हैं। देखा जाए तो स्वास्थ्य महकमा सिर्फ जिला अस्पताल व सीएचसी में आने वाले सामान्य मरीजों की जांच कर कोरम पूरा कर रहा है।

कोरोना संक्रमण को लेकर आम लोगों में तो बेपरवाही दिख रही है, इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन भी लापरवाह हो गया है। त्योहारों पर बाहर से आने वाले प्रवासियों की सैंपलिंग में सिर्फ खानापूरी की जा रही है। रेलवे स्टेशन व बस अड्डों पर कहीं भी स्वास्थ्य टीमें नजर नहीं आती हैं। इससे एक बार फिर खतरा मंडराता दिख रहा है। वैक्सीनेशन की रफ्तार लगातार कम होती जा रही है।

बाजारों में त्योहारी भीड़ के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ रही हैं। पांच फीसदी भी लोग अब मास्क नहीं लगा रहे हैं। सरकारी कार्यालयों में भी दीवारों पर अब कोरोना संक्रमण से बचाव के सिर्फ संदेश बचे हैं। लेकिन इनका पालन करना सब भूल गए हैं। खास बात यह है कि आम लोगों को जागरूक करने वाले ही खुद लापरवाही बरत रहे हैं। किसी भी सरकारी कार्यालय में अधिकारी से लेकर कर्मचारी मास्क लगाए नजर नहीं आते हैं। स्वास्थ्य विभाग ने दावे किए थे कि त्योहार के दौरान बाहर से आने वाले प्रवासियों की सैंपलिंग कर जांच के लिए रेलवे स्टेशन व बस अड्डों पर टीमें लगाई जाएंगी। लेकिन यह टीमें कहीं सैंपलिंग करती नजर नहीं आती हैं। इधर वैक्सीनेशन अभियान में भी लगातार गिरावट आ रही है। मेगा अभियानों भी हवा निकल चुकी है।

30 फीसदी ने लगवाई वैक्सीन की डोज

स्वास्थ्य विभाग ने मंगलवार को 208 सेंटरों में वैक्सीनेशन अभियान चलाया। जिसमें निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष सिर्फ 30 फीसदी लोगों ने पहुंचकर वैक्सीन की डोज लगवाई। अभियान के दौरान 20800 का लक्ष्य तय हुआ था। जिसमें कुल 6158 लोगों ने ही टीकाकरण कराया है। इनमें 2428 ने पहली व 3730 लोगों ने दूसरी डोज लगवाई। इसके पहले रोजाना औसतन 60 फीसदी लोग टीकाकरण के लिए पहुंच रहे थे।

अपर सीएमओ डा. आरके चौरिहा का कहना है कि जिन प्रांतों में मौजूदा समय में कोरोना संक्रमण के केस मिल रहे हैं, वहां से आने वाले प्रवासियों की जांच के लिए रेलवे स्टेशन कर्वी, मानिकपुर के अलावा बस स्टैंड कर्वी में टीमें लगाई गई हैं। यह टीमें रोजाना करीब 250 सैंपलों की जांच करती हैं। जांच में लापरवाही नहीं की जा रही है। गांवों में निगरानी समितियां भी सक्रिय कर दी गई हैं।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें